Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पेट्रो केमिकल में भीषण आग, धमाकों से 40 फीट तक उछले ड्रम, इलाके में रही दहशत

खमतराई थाना क्षेत्र के भनपुरी इलाके में एक पेट्रो केमिकल फैक्ट्री में भीषण आगजनी से अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया। आग पर काबू पाने फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियां मौके पर पहुंची हैं। साथ ही आग पर काबू पाने स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट से अंतर्राष्ट्रीय स्तर के फायर कंट्रोल व्हिकल का उपयोग किया जा रहा है। बावजूद इसके आग पर काबू पाने दमकल कर्मचारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

पेट्रो केमिकल में भीषण आग, धमाकों से 40 फीट तक उछले ड्रम, इलाके में रही दहशत
X

रायपुर. फायर ब्रिगेड के अफसरों के मुताबिक आगजनी की सूचना फायर कंट्रोलरूम को शाम 4 बजकर 40 मिनट पर मिली। आगजनी की सूचना मिलने के साथ ही फायर ब्रिगेड की गाड़ियां घटनास्थल की ओर रवाना कर दी गईं। पुलिस के अनुसार भनपुरी के औद्योगिक क्षेत्र के कोलंबिया पेट्रो कैमिकल फैक्ट्री में आगजनी की घटना हुई है। फैक्ट्री का मालिक विजय वाधवानी है। घटना के समय फैक्ट्री के अंदर कुछ लोग काम कर रहे थे। अंदर से धुंआ और आग की लपटें उठते देख वहां काम कर रहे कर्मी बाहर निकले और घटना की सूचना अपने मालिक के साथ फायर ब्रिगेड को दी।

पर्याप्त खुराक न मिलने से पैंथर भी लाचार

पेट्रो केमिकल फैक्ट्री के अंदर भारी मात्रा में कैमिकल रखे जाने की बात सामने आ रही है, जिसकी वजह से आग ने पूरी फैक्ट्री को अपनी चपेट में ले लिया। आग की भयावहता को देखते हुए एयरपोर्ट पर खड़े अंतर्राष्ट्रीय स्तर के फायर कंट्रोल व्हिकल पैंथर को आग काबू करने लाना पड़ा। पैंथर ढाई सौ मीटर तक पानी की बौछार करने के साथ कैमिकल फेंकता है। भारी भरकम वाहन के पहुंचने के बाद आग पर काबू पाने की कोशिश तेज हुई, लेकिन जरूरत के मुताबिक पैंथर को पानी और फोम नहीं मिलने की वजह से आग बुझाने दमकल कर्मियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

केमिकल ड्रम में रुक-रुक कर विस्फोट

मौके पर मौजूद फायर ब्रिगेड के अधिकारियों के मुताबिक रायपुर, दुर्ग के साथ आसपास से पहुंची फायर ब्रिगेड की गाड़ियां आग बुझाने की कोशिश में जुटी रहीं, लेकिन जैसे-जैसे वे आग बुझाने की कोशिश करते रहे, वैसे-वैसे फैक्ट्री के अंदर कैमिकल से भरे ड्रम में विस्फोट होने की घटनाएं होती रहीं। इस वजह से आग पर काबू पाने में उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

विस्फोट से 40 फीट तक उछले ड्रम

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जैसे-जैसे कैमिकल के ड्रम आग की चपेट में आते गए, उनमें विस्फोट होते रहे। विस्फोट होने की वजह से ड्रम 40 फीट तक ऊपर उछलते रहे। आग की भयावहता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि धुंआ 10 किलोमीटर दूर तक देखा गया। खमतराई से उठ रही लपटों का धुंआ पचपेड़ी नाका तक देखा गया।

अनहोनी से डरे अन्य उद्योग

भनपुरी में जहां आगजनी की घटना हुई, उसके आसपास प्लास्टिक सहित वायर बनाने वाली तथा अन्य कई तरह की पेट्रो कैमिकल फैक्ट्रियां हैं। कोलंबिया फैक्ट्री की आग फैलते देख आसपास के फैक्ट्री वाले सहम गए। साथ ही कई फैक्ट्री मालिक अपनी फैक्ट्री को आग से बचाने की तैयारी में जुट गए। इसके साथ ही फैक्ट्री के अंदर रखे समान को दूसरी जगह शिफ्ट करने की तैयारी करते देखे गए।

और पढ़ें
Next Story