Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

साथी गार्ड ही निकला हत्यारा : विधानसभा क्षेत्र में कंस्ट्रक्शन साइट पर मिली थी गार्ड की लाश

आरोपी अखिलेश ने पुलिस को बताया कि वह कंस्ट्रक्शन साइट पर चोरियां किया करता था। इस बात की खबर तुकेश को लग चुकी थी। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हुआ। तुकेश से अखिलेश को चोरी करने से रोका था। इसी बात से नाराज अखिलेश ने बदला लेने की नीयत से तुकेश की जान लेने का प्लान बनाया। पढ़िए पूरी खबर:

साथी गार्ड ही निकला हत्यारा : विधानसभा क्षेत्र में कंस्ट्रक्शन साइट पर मिली थी गार्ड की लाश
X

चोरी करने से साथी ने टोका तो पत्थर से सिर कुचलकर तीसरी माले से फेंक दिया

रायपुर। राजधानी रायपुर के विधानसभा क्षेत्र में शुक्रवार को हुई अपने साथी को चोरी से रोकने के प्रयास का नतीजा थी। शुक्रवार को प्रयास हॉस्टल की कंस्ट्रक्शन साइट पर सिक्योरिटी गार्ड तुकेश यादव की लाश मिली थी। इस मामले में दूसरे सिक्योरिटी गार्ड अखिलेश साकेत को गिरफ्तार किया गया है। अखिलेश ने ही अपने साथी की हत्या की थी। घटना के बाद भी अखिलेश मौके पर मौजूद था। पुलिस ने अखिलेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

पूछताछ में आरोपी अखिलेश ने पुलिस को बताया कि वह कंस्ट्रक्शन साइट पर चोरियां किया करता था। इस बात की खबर तुकेश को लग चुकी थी। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हुआ। तुकेश से अखिलेश को चोरी करने से रोका था। इसी बात से नाराज अखिलेश ने बदला लेने की नीयत से तुकेश की जान लेने का प्लान बनाया।

जैसा हत्यारे ने पुलिस का बताया

शुक्रवार की सुबह तुकेश इमारत के तीसरे माले पर ड्यूटी कर रहा था। तभी वहां अखिलेश पहुंच गया और तुकेश के साथ बहस करने लगा। बहस के बीच ही पास पड़े एक पत्थर को उठाकर उसने सिर पर दे मारा। जिससे तुकेश बेसुध होकर गिर पड़ा। तब अखिलेश ने उसे तीसरे माले से नीचे फेंक दिया। नीचे गिरते ही तुकेश के सिर और चेहरे पर गहरे जख्म हो गए और उसका खून बहने लगा। यह देखकर अखिलेश वापस कंस्ट्रक्शन साइट की गेट के पास चला गया और वहां ड्यूटी देने लगा। जब मजदूर अपना काम करने पहुंचे तो इमारत के पिछले हिस्से में गार्ड की लाश देखकर घबरा गए और घटना की जानकारी पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने गार्ड अखिलेश से पूछताछ की तो वह घबराहट में इधर-उधर की बातें करने लगा। कभी कहता कि तुकेश की नीचे गिरने की वजह से मौत हुई तो कभी कह दिया कि वो इस बारे में कुछ नहीं जानता। दूसरी तरफ पुलिस ने लाश की हालत देखकर यह पाया कि हो न हो मौत से पहले युवक के साथ मारपीट की गई होगी। शक के आधार पर साथी गार्ड अखिलेश को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। तब उसने हत्या की पूरी कहानी पुलिस को सुना दी। उसने बताया कि चोरी की घटना किसी और को पता ना चले इस वजह से ही उसने अखिलेश को रास्ते से हटाने के लिए उसकी हत्या कर दी।

Next Story