Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फेल छात्रों को देना होगा मौका, टेस्ट के आधार पर प्रमोट

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजूकेशन (सीबीएसई) ने स्कूलों को नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा में फेल छात्रों को मौका देने के लिए कहा है। सीबीएसई ने साफ किया है कि स्कूल ऑनलाइन, ऑफलाइन या फिर इनोवेटिव टेस्ट का आयोजन कर सकते हैं। छात्रों को टेस्ट के आधार पर प्रमोट करने का फैसला ले सकते हैं।

छात्रों के नाम, पते से लेकर परीक्षा फॉर्म में भरी गई अन्य जानकारी में सुधार करने का इस बार मौका नहीं मिलेगा
X
सीबीएसई बोर्ड (प्रतीकात्मक फोटो)

रायपुर. सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजूकेशन (सीबीएसई) ने स्कूलों को नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा में फेल छात्रों को मौका देने के लिए कहा है। सीबीएसई ने साफ किया है कि स्कूल ऑनलाइन, ऑफलाइन या फिर इनोवेटिव टेस्ट का आयोजन कर सकते हैं। छात्रों को टेस्ट के आधार पर प्रमोट करने का फैसला ले सकते हैं। सीबीएसई ने इस संबंध में सर्कुलर जारी किया है। सीबीएसई के मुताबिक कई स्कूल बोर्ड के फैसले का पालन नहीं कर रहे हैं। स्कूल नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा में फेल हो चुके छात्रों को पास होने के लिए दोबारा परीक्षा में बैठने का मौका नहीं दे रहे हैं।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के कारण बोर्ड कक्षाओं को छोड़कर जिन कक्षाओं की परीक्षाएं नहीं ली जा सकीं, उन्हें आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अंक प्रदान करने थे। इनमें कुछ छात्र अनुत्तीर्ण हो गए। इन छात्रों को दोबारा मौका देने कहा गया है।भेजा जाएगा नोटिससीबीएसई ने यह साफ किया है कि यदि कोई स्कूल अपने छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट नहीं करता है अथवा उन्हें उत्तीर्ण होने दोबारा मौका नहीं देता है तो उन्हें नोटिस जारी किया जाएगा। इसके बाद कार्रवाई भी की जाएगी। बोर्ड की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन नहीं करने वाले स्कूलों के खिलाफ अभिभावक शिकायत कर सकते हैं। सीबीएसई द्वारा पहले ही इस संदर्भ में गाइडलाइन जारी की जा चुकी है। निर्देशाें का पालन न करने के कारण दोबारा सर्कुलर जारी किया गया है।

Next Story