Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बस टर्मिनल में लठैतों की रंगदारी, हो रही अवैध वसूली, सहयोग के नाम पर प्रत्येक बस से वसूली

भाठागांव नए बस टर्मिनल पर पुलिस चौक नहीं होने से अवैध वसूली की जा रही है। कभी वाहन पार्किंग तो कभी सहयोग राशि के नाम पर जबरन वसूली जारी है। बगैर सीरियल नंबर की पर्ची पर वाहन नंबर लिखकर दबंग युवक पैसे वसूल रहे हैं। पैसे देने से इनकार करने पर यात्रियों को वाहन के साथ बस टर्मिनल परिसर में घुसने नहीं देते हैं। बस टर्मिनल पर ट्रैफिक थाने से ज्यादा जरूरी पुलिस चौकी खोलना है। इसके बाद ही जबरन वसूली का सिलसिला बंद हो सकता है। पढ़िए खास ख़बर..

बस टर्मिनल में लठैतों की रंगदारी, हो रही अवैध वसूली, सहयोग के नाम पर प्रत्येक बस से वसूली
X

रावांभाटा स्थित यातायात थाना, इतना हट के किनारे में है की बमुश्किल ही किसी को मिले 

रायपुर: भाठागांव स्थित नए बस टर्मिनल पर वाहन पार्किंग बंद होने के बावजूद अब तक यात्रियों और बस ऑपरेटरों की परेशानी समाप्त नहीं हुई है। अब वाहनों से जबरन वसूली का खेल शुरू हो गया है। नगर निगम लिखी कलर पर्ची पर सहयोग के नाम पर प्रत्येक वाहन से 20 से 50 रुपए तक की जबरन वसूली की जा रही है।

बगैर सीरियल नंबर की पर्ची पर वाहन नंबर लिखकर दबंग युवक पैसे वसूल रहे हैं। पैसे देने से इनकार करने पर यात्रियों को वाहन के साथ बस टर्मिनल परिसर में घुसने नहीं देते हैं। यही नहीं, यात्री बसों से भी गेट पर ही वसूली की जाती है। इसके लिए बस टर्मिनल के दोनों गेट पर करीब 10-10 युवक लाठी-डंडे लेकर खड़े रहते हैं। जबरन वसूली का खेल करीब हफ्तेभर से चल रहा है। इस मामले में नगर निगम के अफसरों को बस ऑपरेटरों ने जानकारी दी, फिर भी जबरन वसूली का खेल बंद नहीं हो सका।

20 से 50 रुपए की होती है वसूली

जानकारी के मुताबिक भाठागांव बस टर्मिनल के दोनों गेट बांस लगाकर बंद कर दिए गए हैं। वहां कई युवक भी मौजूद रहते हैं। जैसे ही यात्री बस, ऑटो रिक्शा, कार और बाइक टर्मिनल गेट में घुसते हैं, युवक उसे रोक लेते हैं और 20, 30 या 50 रुपए मांगते हैं। पर्ची पर वाहन नंबर लिखकर वाहन चालक को देते हैं।

रोजाना 12 हजार रुपए की वसूली

जानकारी के मुताबिक रोज सुबह से रात तक करीब 500 से अधिक यात्री बसें बस टर्मिनल में आवागमन करती हैं। वहीं करीब 200 से 300 यात्री अपने वाहनों के साथ टर्मिनल में प्रवेश करते हैं। इनमें अधिकांश लोग सहयोग के नाम पर पैसे देकर ही प्रवेश करते हैं। अगर रोज करीब 600 वाहनों से 20 रुपए के हिसाब से ही वसूली की जाए तो 12 हजार रुपए की अवैध वसूली की जा रही है। हफ्तेभर में एक लाख के लगभग की दबंगाें ने अवैध वसूली कर ली है। इसके बाद भी नगर निगम इन दबंगों पर सख्त कार्रवाई नहीं कर रहा है।

पुलिस चौकी नहीं बनी

जानकारी के मुताबिक भाठागांव नए बस टर्मिनल पर पुलिस चौक नहीं होने से अवैध वसूली की जा रही है। कभी वाहन पार्किंग तो कभी सहयोग राशि के नाम पर जबरन वसूली जारी है। ऐसी दशा में बस टर्मिनल पर ट्रैफिक थाने से ज्यादा जरूरी पुलिस चौकी खोलना है। इसके बाद ही जबरन वसूली का सिलसिला बंद हो सकता है।

शिकायत पर कार्रवाई नहीं

नए बस टर्मिनल में वाहनों से जबरन वसूली की जा रही है। इसे रोकने की जिम्मेदारी कलेक्टर और नगर निगम के कमिश्नर की है, लेकिन शिकायत करने के बाद भी कार्रवाई नहीं हो रही है।

- अनवर अली, अध्यक्ष, छग यातायात महासभा, रायपुर

Next Story