Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आरंग से लगे ग्राम मुनरेठी में आबकारी अमले पर हमला

रायपुर के आरंग क्षेत्र के ग्राम मुनरेठी में आबकारी अमले पर हमला हो गया। गांव में शराब तस्करी करने वाले एक सिरफिरे युवक के साथ उसके परिवार वालों ने आबकारी दल पर हमला कर दिया। कमरे से अमले ने शराब बरामदगी की कोशिश की तब कई बोतलें उठाकर वहीं फोड़ डालीं। सिरफिरे शख्स ने आबकारी को चाकू दिखाकर भी धमकाने की कोशिश की।

आरंग से लगे ग्राम मुनरेठी में आबकारी अमले पर हमला
X
शराब की बोतल (प्रतीकात्मक फोटो)

रायपुर के आरंग क्षेत्र के ग्राम मुनरेठी में आबकारी अमले पर हमला हो गया। गांव में शराब तस्करी करने वाले एक सिरफिरे युवक के साथ उसके परिवार वालों ने आबकारी दल पर हमला कर दिया। कमरे से अमले ने शराब बरामदगी की कोशिश की तब कई बोतलें उठाकर वहीं फोड़ डालीं। सिरफिरे शख्स ने आबकारी को चाकू दिखाकर भी धमकाने की कोशिश की। मामले में सूचना देने पर आरंग पुलिस ने सिरफिरे शख्स के साथ घर के सदस्यों के खिलाफ में अपराध दर्ज किया।

वृत्त अधिकारी पंकज कुजूर के बताए अनुसार दोपहर एक बजे टीम मुखबिर की सूचना पर गांव पहुंची थी। जब संदेही भोला बंजारे और टेमन दास के घर खोजबीन शुरू की तब पूरे परिवार ने हंगामा कर दिया। थाना में दर्ज कराई गई रिपोर्ट के मुताबिक बताया गया कि आबकारी स्टाफ नेमंद उर्फ भोला के घर पहुंचा तब परिवार के सदस्यों ने पहले वारंट दिखाने की बात कही। घर घुसकर जब अवैध शराब बरामद की तब यहां ड्रामा शुरू कर दिया।

बताया गया है कि भोला ने जब्त बोतलों का पंचनामा बनाते वक्त कुछ बोतलों को उठाकर अफसरों के सामने ही पटक दिया। धीरे-धीरे गांव से कुछ और रिश्तेदारों को बुलावकर हंगामा किया। पकड़े जाने के डर से दबाव बनाने की कोशिशें की। भोला के पास एक चाकू भी था जिसे लेकर उसने स्टाफ के एक सदस्य पर हमला भी किया। चाकू लगने की वजह से हाथ में हल्का जख्म आया है। वृत्त अफसर का कहना है कि मामले में पुलिस ने मारपीट और शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज किया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद अलग से आबकारी एक्ट में अपराध पंजीबद्ध किया है।

इसके पहले संतोषी नगर में हमला

एक माह के भीतर आबकारी की रेड कार्रवाई में हमला होने का दूसरा मामला है। इसके पहले संतोषी नगर अंग्रेजी भट्ठी में अज्ञात हमलावरों ने आबकारी के सूमो वाहन में जमके पत्थरबाजी की थी। पथराव में स्टाफ बाल-बाल बचा। हमलावरों ने सूमो वाहन के शीशे चूर-चूर कर दिए। यह अब दूसरी बार है, जब शहर से दूर गांव में अमले को चोट पहुंचाई गई। कोचिया तस्करों के साथ में शराब दुकान के पास जुटने वाले संदेहियों के हौसले हर दिन बढ़ रहे हैं।

Next Story