Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पर्यावरण : राजधानी में आज प्लास्टिक मुक्त भारत के लिए जनसंकल्प, राज्यपाल की मौजूदगी में नदी तट पर गंगा आरती भी

पर्यावरण : राजधानी में आज प्लास्टिक मुक्त भारत के लिए जनसंकल्प, राज्यपाल की मौजूदगी में नदी तट पर गंगा आरती भी
X

रायपुर या आसपास के रहवासी पर्यावरण प्रेमियों और आम नागरिकों के लिए एक बेहतर कार्यक्रम आज 15 दिसंबर को महादेव घाट में आयोजित होगा। राज्यपाल अनुसुइया उइके और पूर्व सांसद गोपाल व्यास की मौजूदगी में पर्यावरण से संबंधित कई गतिविधियां होंगी। पढ़िए पूरी खबर-

रायपुर। पर्यावरण वाहिनी रायपुर छत्तीसगढ़ द्वारा आज 15 दिसंबर की शाम 4 बजे 'पर्यावरण तीर्थ-रायपुर प्रकल्प' का आयोजन रखा गया है। यह आयोजन महादेव घाट में पुराना मुर्ति विसर्जन स्थल पर होगा, जिसमें बतौर मुख्य अभ्यागत छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुइया उइके शामिल होंगीं, वहीं पूर्व सांसद गोपाल व्यास कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे।

इस कार्यक्रम के संबंध में जानकारी देते हुए पर्यावरण वाहिनी, रायपुर के सूत्रों ने बताया कि पर्यावरण के संरक्षण की परिकल्पना पर केन्द्रित इस कार्यक्रम में बरगद, पीपल और नीम के पौधे लगाए जाएंगे, प्लास्टिक मुक्त भारत के लिए जनसंकल्प लिया जाएगा। इसके अलावा महादेव नदी तट पर गंगा आरती होगी, साथ ही तुलसी के पौधों का निशुल्क वितरण भी किया जाएगा। पर्यावरण वाहिनी रायपुर ने इस कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा लोगों से शामिल होने की अपील की है।

छत्तीसगढ़ भाजपा के पर्यावरण प्रभारी गणेश शंकर मिश्रा ने बताया कि बरगद,पीपल व नीम के पौधे रोपे जायेंगे,प्लास्टिक मुक्त अभियान के लिए संकल्प दिलाया जायेगा,नदी तट पर गंगा आरती होगी। तुलसी के पौधों का नि:शुल्क वितरण किया जायेगा। महादेवघाट को हमने छत्तीसगढ के दूसरे पर्यावरण तीर्थ के रूप विकसित करने का संकल्प लिया है। राज्य में पहला पर्यावरण तीर्थ राजनांदगांव जिले के ग्राम मोहारा में शिवनाथ नदी के तट पर इसी साल 23 अक्टूबर को शुरु हो चुका है। इसका शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमनसिंह ने किया था। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ भाजपा के पर्यावरण विभाग द्वारा 3 पी-प्लास्टिक,पानी और पेड़ को ध्यान में रखते हुए जनमानस में पर्यावरण सुरक्षा और संवर्धन के प्रति संवेदनशीलता बढऩे के लिए राज्य की विभिन्न जीवनदायिनी नदियों के तट पर पर्यावरण तीर्थ की स्थापना करने की योजना बनाई गई है। जिन नदियों के तट पर पौधे लगाये जाएंगे उनकी सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड लगाकर किया जायेगा। इस प्रकार के सभी कार्यक्रम जन सहयोग से जनजागरण के द्वारा ही संचालित किया जा रहा है। पढ़िए कार्यक्रम का पोस्टर-




Next Story