Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नौकरी का झांसा देकर ठगने वाले 3 गिरफ्तार, महिला से था इनका कनेक्शन

छत्तीसगढ़ में नौकरी लगा देने का झांसा देकर लोगों को ठगने का खेल बड़ी तेजी से फल-फूल रहा है। बेइज्जती के डर से कई लोग पुलिस तक नही पहुंचते इसलिए मामला ठंडे बस्ते में चला जाता है, लेकिन अब पीड़ित हिम्मत जुटाकर पुलिस की शरण में जा रहे हैं, तो उन्हें राहत भी मिल रही है और आरोपियों को हवालात भी नसीब हो रहे हैं। पुलिस अब पुराने मामलों में भी रणनीतिक कार्रवाई कर रही है। ऐसा ही एक मामला बलरामपुर के शंकरगढ़ में सामने आया है। पढ़िए पूरी खबर-

Delhi Fraud: दिल्ली में इंटरनेशन धोखाधड़ी रैकेट का भंडाफोड़, इतने करोड़ की ठगी में दो गिरफ्तार, चीन में बना पूरा प्लान
X

दिल्ली में इंटरनेशन धोखाधड़ी रैकेट का भंडाफोड़

बलरामपुर। बलरामपुर जिले की शंकरगढ़ पुलिस ने नौकरी लगाने के नाम पर ठगी करने के मामले में तीन और आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपी दर्जनों लोगों को नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रुपए लगा चुके थे। करीब एक महीने पहले मिली शिकायत के बाद पुलिस ने इस मामले में एक महिला आरोपी शालेन तिग्गा को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में फरार तीन और आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी अन्नू केरकेट्टा, मन्नू केरकेट्टा, रोशन केरकेट्टा आपस में तीनों भाई बताए जा रहे हैं। सरगुज़ा के अम्बिकापुर से दबिश देकर पुलिस ने इन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी नौकरी लगाने के नाम पर बेरोजगारों को ठगते थे और फिर मिले हुए पैसों से मौज-मस्ती करते थे। पुलिस को इन आरोपियों की सरगर्मी से तलाश थी। थाना प्रभारी अमित गुप्ता ने बताया इस मामले में और भी सहयोगी गिरफ्तार हो सकते हैं। आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने 1 दुपहिया वाहन सहित बैंक पासबुक एटीएम भी बरामद किये हैं। आपको बता दें कि नौकरी लगाने का झांसा देकर लोगों से रुपए ठगने वाले सिर्फ सरगुजा नही, प्रदेश के महासमुंद, दुर्ग, राजनांदगांव, कवर्धा और बेमेतरा इलाके में भी सक्रिय हैं। इस तरह के फ्रॉड में सरकारी, अर्धसरकारी और निजी क्षेत्रों में कार्यरत कई अन्य लोग भी शामिल हैं, जो पीड़ितों को लगातार ठग रहे हैं और कई तो ऐसे हैं जो रुपए गटक लेने के बाद पीड़ितो को 2-2 सालों से घुमा रहे हैं। पुलिस ऐसे तमाम लोगों की कुंडली खंगाल रही है। बड़ी संख्या में ऐसी शिकायतें पुलिस हेड क्वार्टर तक भी पहुंची है। ऐसे में पुलिस यह तैयारी कर रही है कि पीड़ितों को ज्यादा झंझट झेले बिना आसानी से राहत मिले और आरोपियों को शीघ्रता से पकड़कर हवालात भेजा जा सके।

Next Story