Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नए साल के जश्न पर ग्रहण, गाइडलाइन जारी नहीं, असमंजस में इवेंट संचालक

31 दिसंबर के जश्न में सिर्फ 9 दिन बचे हैं, सांस्कृतिक कार्यक्रम गाइडलाइन जारी नहीं होने का असर, जहां हफ़्तों पहले से पुलिस दफ्तर में कार्यक्रम आयोजन करने आवेदन जमा होते थे, वहीं इस बार सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए आयोजकों ने आवेदन ही नहीं किया। जब तक कार्यक्रम को लेकर गाइडलाइन जारी नहीं होगी, तब तक इवेंट कंपनियां आगे नहीं आएंगी। पढ़िए पूरी ख़बर..

नए साल के जश्न पर ग्रहण, गाइडलाइन जारी नहीं, असमंजस में इवेंट संचालक
X

रायपुर: राजधानी में इस बार नए साल के जश्न पर ग्रहण लगने की संभावना है। साल 2020 के समाप्त होने में सिर्फ 9 दिन शेष बचे हैं, लेकिन अब तक सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन को लेकर प्रशासन की तरफ से गाइडलाइन तय नहीं की गई है। इससे आयोजक असमंजस में हैं कि कार्यक्रम होगा या नहीं। दरअसल कोरोना महामारी को लेकर बीते साल नववर्ष पर बड़े सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन पर प्रशासन ने रोक लगा दी थी। इस बार उम्मीद थी कि नए साल पर बड़े कार्यक्रमों का आयोजन हो सकेगा, लेकिन गाइडलाइन जारी नहीं होने से इवेंट संचालक भी मायूस हो गए हैं।

टूटने लगी उम्मीद

जानकारी के मुताबिक 31 दिसंबर यानी नए साल के जश्न को लेकर हर साल शहर में करीब 70-80 कार्यक्रम आयोजित होते थे। इनमें होटल-फार्म हाउस पर 20 से 25 बड़े सांस्कृतिक कार्यक्रम होते थे। सिर्फ एक दिन में करीब 5 से 7 करोड़ रुपए का इवेंट कंपनियों का कारोबार होता था, लेकिन बीते साल कारोबार पूरा चौपट हो गया था। इस बार उम्मीद थी कि कारोबार बढ़ेगा, लेकिन

कार्यक्रम को लेकर गाइडलाइन जारी नहीं हुई, जिससे अब उम्मीद टूटने लगी है। कार्यक्रम के लिए आवेदन भी नहीं, जानकारी के मुताबिक सांस्कृतिक कार्यक्रम को लेकर गाइडलाइन जारी नहीं होने का असर भी दिखने लगा है। जहां पहले पखवाड़ेभर पहले से पुलिस दफ्तर में कार्यक्रम आयोजन करने आवेदन जमा होने लगते थे, वहीं इस बार एक भी सांस्कृतिक कार्यक्रम के लिए आयोजकों ने आवेदन नहीं किया है। इससे साफ है, जब तक कार्यक्रम को लेकर गाइडलाइन जारी नहीं होगी, तब तक इवेंट कंपनियां आगे नहीं आएंगी।

Next Story