Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नशे के सौदागरों का रैकेट तोड़ने के लिए दवा कारोबारी व स्टाॅफ की क्लास

रायपुर में नशे के सौदागरों के खिलाफ चल रहे अभियान में नशीले टेबलेट व सीरप बेचने व पीने वालों की संख्या में तेजी से इजाफ होने का खुलासा हुआ। इस काले कारोबार में मेडिकल स्टोर संचालक और एमआर एवं दुकान स्टॉफ की भूमिका मिली।

नशे के सौदागरों का रैकेट तोड़ने दवा कारोबारी व स्टाॅफ की क्लास
X

दवाईयाँ (प्रतीकात्मक फोटो)

रायपुर में नशे के सौदागरों के खिलाफ चल रहे अभियान में नशीले टेबलेट व सीरप बेचने व पीने वालों की संख्या में तेजी से इजाफ होने का खुलासा हुआ। इस काले कारोबार में मेडिकल स्टोर संचालक और एमआर एवं दुकान स्टॉफ की भूमिका मिली। यही नहीं है नशीले टेबलेट व सीरप का उपयोग कर युवक चाकूबाजी व मारपीट जैसे क्राइम करते हैं। इसे रोकने पुलिस और जिला प्रशासन एवं ड्रग डिपार्टमेंट ने बुधवार को दवा कारोबारियों के साथ बैठक की।

इसमें अफसरों ने स्पष्ट कर दिया है कि अब बगैर डाॅक्टर के प्रिस्क्रिप्शन या वैध कागजात-दस्तावेज के नशीले टेबलेट व सीरप की खरीद-फरोख्त नहीं की जाएगी। ऐसा करते हुए पाए जाने पर तत्काल संबंधित के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार किया जाएगा।

ये हुए बैठक में शामिल

अफसरों के मुताबिक पुलिस दफ्तर के सभागार में नशीली दवाओं को लेकर पुलिस और दवा कारोबारियों की बैठक हुई। इसमें एएसपी लखन पटले, एडीएम एनआर साहू, सीएसपी नसर सिद्दीकी, ड्रग्स विभाग के अफसर, मेडिकल स्टोर के संचालक, मेडिकल एसोसियेशन के सदस्य, दवाइयों की सप्लाई करने वाले व एमआर शामिल हुए।

दवा कारोबारियों की निगरानी करेगी टीम

अफसरों के मुताबिक अब डाॅक्टर की लिखित पर्ची या अन्य किसी वैध कागजात-दस्तावेज के बगैर प्रतिबंधित नशीले टेबलेट व सीरप की खरीदी एवं बिक्री और सप्लाई नहीं की जाएगी। इसके लिए दवा के होलसेलर और रिटेलर को खरीदी और बिक्री व सप्लाई करने में नियमों का पालन करने के निर्देश दिए गए। इसकी मॉनिटरिंग करने ड्रग्स विभाग और पुलिस विभाग की एक संयुक्त टीम बनाई गई। ये टीम लगातार दवा दुकानों को चेक करेगी।

Next Story