Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शराब दुकान के सामने पियक्कड़ों की नौटंकी- भट्ठी की जय... भट्ठी वालों की जय

डेढ़ महीने बाद खुली शराब दुकानें तो शौकीनों ने एक बार फिर रिकार्ड बनाया दिया। रायपुर में ही पियक्कड़ ढाई करोड़ से भी ज्यादा की शराब डकार गए। शराब को नारियल का चढ़ावा और अगरबत्ती जलाकर जयकारे भी लगाये। इनकी ड्रामेबाजी जान आप भी खुद को हंसने से रोक नहीं पाएंगे। पढ़िए पूरी खबर-

शराब दुकान के सामने पियक्कड़ों की नौटंकी- भट्ठी की जय... भट्ठी वालों की जय
X

रायपुर। डेढ़ महीने बाद शौकीनों के सूखे कंठ को देशी के तड़के के साथ प्यास बुझाने की बारी आई और मदिरा प्रेमियों ने एक बार फिर रिकार्ड बनाया दिया। राज्य में देशी शराब दुकान खोले जाने के फैसले से पहले ही दिन काउंटर पर भीड़ टूट पड़ी। प्रदेश की बात तो दूर, रायपुर में ही पियक्कड़ ढाई करोड़ से भी ज्यादा की शराब डकार गए। दिलचस्प यह रहा कि अर्से बाद शराब दुकान खुली, तो कुछ शौकीन शराब के लिए इस कदर भावुक हुए कि पव्वे के सामने नारियल भेंट कर अगरबत्ती भी जला दी। कई दुकानों में भट्ठियों में जयकारे भी लगा दिए। सुबह 9 बजे से दुकानें खुलने की खबर सुनकर दो घंटे पहले ही शौकीन देशी का टेस्ट लेने काउंटर पर जमा हो गए। पहले पहर तक ही शराब बिक्री में कर्मचारियों के पसीने छूट गए। गंज इलाके के शौकीनों ने हर किसी का ध्यान अपनी ओर खींचा। एक को जब पव्वा मिला, तो उसने अपने दोस्त के साथ शराब जमीन पर रख दी। फिर शराब के सामने नारियल का चढ़ावा किया। इसके बाद अगरबत्ती जलाकर भट्ठी के लिए जयकारे के नारे लगाए। इनकी ड्रामेबाजी से दूसरे लोग भी झूम उठे। लंबी कतारों के बीच बारी-बारी से भट्ठी की जय... भट्ठी वालों की जय कहते हुए शराब की खरीदी भी की।

अंग्रेजी शॉप में भीड़ हुई कम

देशी की बिक्री शुरू हो जाने के बाद अंग्रेजी को भला कौन पूछे...!! इसलिए पहले ही दिन अंग्रेजी वाइन शॉप में भीड़ कम हो गयी। दुकानों में कम से कम भीड़ रहे, इसलिए आबकारी की ओर से प्लेसमेंट कर्मचारियों के लिए नए फरमान लागू किए गए। जिसमें एक दिन पहले बुकिंग शराब की डिलीवरी किए जाने के बाद, बुधवार को सारे ऑनलाइन आर्डर रोके गए और एक दिन पहले ही एडवांस बुकिंग का निपटारा किया गया।

साढ़े तीन करोड़ प्लस बिक्री

अंग्रेजी शराब की ऑनलाइन डिलीवरी और फिर देशी शराब के लिए 11 घंटे काउंटर चालू रखने की व्यवस्था के बीच दिनभर में लगभग साढ़े तीन करोड़ रुपये की शराब बिक्री हुई। देशी शराब दुकानों में शौकीनों ने जमकर पव्वा और बोतलें खरीदी हैं। डेढ़ महीने बाद शराब की तलब होने के बाद शौकीन इस तरह दुकानों में टूट पड़े जैसे जश्न का माहौल हो।

उड़ाई नियमों की धज्जियां

शराब बिक्री होने वाले स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग के सख्त नियम लागू करने के बाद भी शौकीन शराब खरीदी के लिए प्रोटोकॉल बिगाड़ते दिखे। कई जगहों पर शराब लेकर कैंपस में ही जाम परोसा। कर्मचारियों के हस्तक्षेप करने के बाद कहा-सुनी तक हुई। लाइन लगाने के दौरान बहुतों ने बैरिकेड्स लांघने तक की कोशिशें की। हालांकि प्लेसमेंट कर्मचारियों ने वालेंटियर तैनात करते हुए व्यवस्था संभाल ली।

Next Story