Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डॉ रमन सिंह बोले- मप्र-राजस्थान की हालत देखकर अब यहाँ भी सरकार को विधायकों की चिंता हो रही

18 माह पहले ही निगम, मंडल के पदों को भर लिया जाना था : डॉ. रमन सिंह

डॉ रमन सिंह बोले- मप्र-राजस्थान की हालत देखकर अब यहाँ भी सरकार को विधायकों की चिंता हो रही
X

रायपुर. प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का कहना है कि प्रदेश सरकार को मप्र और राजस्थान की हालत देखकर ही अपने विधायकों की चिंता हो रही है। निगम मंडल में जो पद खाली हैं, उनको तो सरकार बनने के बाद पहले ही दिन से भर देना था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। जो विधायक योग्य हैं, उनको निगम, मंडलों में रखना गलत नहीं है।

अपने निवास पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए डॉ. रमन ने संसदीय सचिवों की नियुक्ति के मामले में कहा, जिन-जिन मुद्दों को लेकर विपक्ष में रहते हुए कांग्रेस ने हमारी सरकार के खिलाफ सदन से लेकर सड़क तक और सड़क से लेकर कोर्ट तक लड़ाई लड़ी, आज उन्हीं मुद्दों पर फैसले लिए जा रहे हैं। संसदीय सचिवों की नियुक्ति के विरोध में कांग्रेस कोर्ट तक गई थी। आज यह साबित हो गया है कि कांग्रेस का तब का विरोध महज राजनीतिक कारणों से था। इसे जनता पहचान गई है।

पांच साल में एक भी भर्ती नहीं होगी

प्रदेश में सभी तरह की भर्तियों पर रोक पर डॉ. रमन ने कहा, शिक्षकों की नियुक्ति ही नहीं, सभी पदों पर नियुक्ति रोक दी गई है। पीएससी में कुछ हो नहीं रहा, व्यापम में पद नहीं निकल रहे। शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो गई थी, इसे भी रोक दिया गया। उनकी जगह संविदा नियुक्ति कर रहे हैं, जिनका यह जीवनभर विरोध करते रहे। यह सरकार 18 महीने क्या पूरे पांच साल एक भी व्यक्ति की नियुक्ति नहीं करेगी। हमारे वक्त लगातार 15 सालों तक भर्ती की प्रक्रिया जारी रही। हमने 80 हजार शिक्षकों की नियुक्ति की। कांग्रेस सरकार के 18 महीनों में सरकार का काम सबने देख लिया। इस सरकार ने सत्ता में आने से पहले जो भी वादे किए थे, किसी में भी अमल नहीं किया है। आज बेरोजगार युवा परेशान हो रहे हैं। इनको बेरोजगारी भत्ता देने की बात थी, लेकिन नहीं दिया गया। कांग्रेस की कथनी और करनी में अंतर है। यह सरकार कुछ करने वाली नहीं है।

Next Story