Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिजली संकट पर बोले डॉ. रमन : मुख्यमंत्री का सुबह से शाम तक एक ही काम, कुछ भी गड़बड़ हुआ उसका दोष केंद्र पर मढ़ना

पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह दिल्ली से लौटे चुके हैं और अब उन्होंने राज्य सरकार पर निशाना साधा है। डॉ. सिंह ने बिजली संकट मामले को लेकर कहा कि मुख्यमंत्री का सुबह से लेकर शाम तक एक ही धंधा है, जो कुछ भी गड़बड़ हुआ उसका दोष केंद्र पर मढ़ते हैं। पढ़िए पूरी खबर...

बिजली संकट पर बोले डॉ. रमन : मुख्यमंत्री का सुबह से शाम तक एक ही काम, कुछ भी गड़बड़ हुआ उसका दोष केंद्र पर मढ़ना
X

रायपुर। पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह दिल्ली से लौटे चुके हैं और अब उन्होंने राज्य सरकार पर निशाना साधा है। डॉ. सिंह ने बिजली संकट मामले को लेकर कहा कि मुख्यमंत्री का सुबह से लेकर शाम तक एक ही धंधा है, जो कुछ भी गड़बड़ हुआ उसका दोष केंद्र पर मढ़ते हैं। छत्तीसगढ़ में खुद कुछ नहीं कर पा रहे हैं, उसकी जिम्मेदारी स्वयं लेनी चाहिए। कोयले को लेकर पूर्व सीएम डॉ. सिंह ने कहा कि घरेलू कोयले और बाहर से आने वाले कोयले इसमें घरेलू कोयले को इंडस्ट्री के लोग खरीदते हैं। पावर का डिमांड अप्रैल व मई आते-आते 20 परसेंट बढ़ जाता है। 12 से 13 परसेंट पावर का डिमांड बड़ा है, गर्मियों के समय में क्राइसिस जरूर आती हैं।

पूर्व सीएम डॉ. सिंह ने बताया कि दिल्ली बैठक में छत्तीसगढ़ पर लगभग 3 घंटे चर्चा हुई। छत्तीसगढ़ में आने वाले समय में कार्य योजना बनाकर संगठन के कार्यक्रम निर्धारित हुए हैं। डेढ़ साल की कार्य योजना पर व्यापक रूप से चर्चा हुई है। राष्ट्रीय अध्यक्ष के सुझाव भी मिले। वहीं बोरे बासी को लेकर डॉ. रमन सिंह ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अच्छा है गर्मी का समय है बोरे बासी खाएं, साथ में मट्ठा और प्याज डालकर खाएं तो लू नहीं लगेगा, स्वास्थ्यगत भी अच्छा होता है और सेहत के लिए भी अच्छा होता है। साथ ही कांग्रेस के झीरम घाटी मुद्दे पर पूर्व सीएम ने कहा कि भाजपा क्या रोकेगी, वह घटना अपने आप में खुली किताब है। झीरम घाटी हमले के बारे में कांग्रेस के लोग हम से अधिक जानते हैं। छत्तीसगढ़ की राजनीतिक परिस्थितियां और छत्तीसगढ़ के विषय को लेकर उन्हें जानकारी दी। संगठनात्मक दृष्टि से उन्होंने छत्तीसगढ़ के विषय में अपनी उत्सुकता दिखाई। केंद्र सरकार की योजना का लाभ गांव, गरीब, किसान तक हो रहा है। छत्तीसगढ़ की गति को आगे बढ़ाने के लिए उनका साथ मिला खुशी की बात है।

किसान आंदोलन को लेकर बोले पूर्व सीएम डॉ. रमन

पूर्व सीएम डॉ. सिंह ने किसान आंदोलन को लेकर कहा कि प्रदेश सरकार किसानों की हितैषी बनती है, लेकिन जब आंदोलन होते हैं तो उसे कुचलने के लिए बड़े-बड़े कदम उठाए जाते हैं। किसानों के आत्महत्या को लेकर सरकार की चिंता ना होना, सरकार की दोहरी नीति चलती है। राकेश टिकैत रायपुर आए थे, उनसे मुख्यमंत्री नहीं मिले, आंदोलनकारियों से नहीं मिले, जो उनकी तारीफ करने आता है उनके साथ मिलते हैं और डिनर लंच करते हैं।

और पढ़ें
Next Story