Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पहली बार बुर्खानशी मतदाताओं के लिए महिला पुलिस की तैनाती, राज्य निर्वाचन आयोग ने जारी किया फरमान

किसी को भी बुर्का पहनकर मतदान करने नहीं दिया जाएगा- भाजपा शहर जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी का एलान, बुर्का पहनकर मतदान करने आने वाली महिलाओं को महिला मोर्चा की चार टीमें मतदान केंद्र आने से रोकेंगी। वहीं मुस्लिम परिवारों का कहना- कोविड प्रोटोकॉल के तहत मास्क लगाना ही है तो बुरखे से आपत्ति क्यूं ? वहीं भाजपा द्वारा बुरखा पहने मतदाओं को मतदान केंद्र ना आने देने के ऊपर आयोग का कहना है कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की है, बुरखा पहन के या मास्क लगा के आने से किसी को भी मनाही नहीं है, पहचान के लिए पृथक से महिला पुलिसकी ड्यूटी लगाईं जाएगी, पढ़िए पूरी ख़बर...

पहली बार बुर्खानशी मतदाताओं के लिए महिला पुलिस की तैनाती, राज्य निर्वाचन आयोग ने जारी किया फरमान
X

रायपुर: बीरगांव नगर निगम चुनाव में निर्वाचन कार्यालय ने नई व्यवस्था प्रभावी की है। रायपुर निर्वाचन कार्यालय ने बीरगांव में सभी मतदान केंद्रों में पृथक से महिला अधिकारियों की तैनाती की है। प्रत्येक मतदान केंद्र में पृथक से सहायता केंद्र बनाए गए हैं। बुर्का पहनकर मतदान करने आने वाली किसी महिला की पहचान में यदि आपत्ति जताई जाएगी तो महिला अधिकारी जांच करेंगी। भाजपा की ओर से यह लिखित मांग की गई थी कि ऐसी किसी भी महिलाओं की पहचान की सुनिश्चित जांच हो जो कि चेहरा ढांके हुए हों या बुर्कानशीं ही क्यों ना हों। उप निर्वाचन अधिकारी उमेश अग्रवाल ने बताया कि बीरगांव में प्रत्येक मतदान केंद्र में पृथक से सहायता केंद्र बनाए गए हैं। इनमें महिलाओं की ड्यूटी लगाई जा रही है। बीरगांव में कुल 95 मतदान केंद्र है।

पहली बार ऐसी व्यवस्था

निर्वाचन के नियमों की कंडिका 17 के सहपठित क्रमांक पांच के 1 में यह उल्लेख है कि मतदान अभिकर्ता पीठासीन अधिकारी के पीछे बैठेंगे। जहां से वे यह देख सकें कि जो व्यक्ति मतदान करने आया है, उसे मतदान अनुज्ञा के पूर्व चेहरे से पहचान सकें। वहीं भाजपा द्वारा बुरखा पहने मतदाओं को मतदान केंद्र ना आने देने के ऊपर आयोग का कहना है कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की है, बुरखा पहन के या मास्क लगा के आने से किसी को भी मनाही नहीं है, पहचान के लिए पृथक से महिला पुलिस की ड्यूटी लगाईं जाएगी, मास्क एवं बुरखा हटा के महिलाओं की पहचान करने के लिए महिला अधिकारी की नियुक्ति किए जाने का प्रदेश का यह पहला मामला है।

सुबह से डटे रहेंगे कार्यकर्ता

चुनाव प्रभारी अजय चंद्राकर का कहना है, गाजीनगर के बूथ पर फर्जी मतदान की संभावना है। हमने तो इसकी शिकायत भी की, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जांच में क्या किया गया, यह तक नहीं बताया गया है। हमने निर्वाचन आयोग से बुर्के के बिना ही मतदान कराने की भी मांग की है। श्री चंद्राकर ने कहा, वे खुद और नारायण सिंह चंदेल सुबह 8 बजे से लेकर शाम पांच बजे तक मतदान केंद्र पर रहेंगे। किसी भी हाल में किसी को फर्जी मतदान करने नहीं दिया जाएगा।

एक भी फर्जी मतदाता पकड़ा गया, तो मतदान रूकवाएंगे- अजय चंद्राकर

बीरगांव चुनाव में वार्ड नंबर 28 मौ. अब्दुल रउफ वार्ड के गाजीनगर के रायपुर पब्लिक स्कूल बूथ में भाजपा के चुनाव प्रभारी अजय चंद्राकर खुद ही मोर्चा संभालेंगे। उनका कहना है, किसी भी हाल में फर्जी मतदान होने नहीं देंगे। एक भी फर्जी मतदाता पकड़ा गया, तो मतदान रूकवाने का प्रयास होगा। साथ में सहचुनाव प्रभारी विधायक नारायण सिंह चंदेल भी रहेंगे। इसी के साथ भाजपा के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की हर वार्ड के हर बूथ पर भी नजर रहेगी। बुर्के पहनकर मतदान के लिए आने वाली महिलाओं को लेकर भी आपत्ति की जाएगी। बीरगांव चुनाव में सोमवार को मतदान होना है। इसके लिए भाजपा ने अपनी पूरी तैयारी की है। भाजपा की नजर गाजीपुर के मतदान केंद्र पर ज्यादा है। इस मतदान केंद्र को लेकर भाजपा ने राज्य निर्वाचन आयोग में शिकायत की थी कि यहां के एक ही मकान में 240 से ज्यादा मतदाताओं के पते हैं।

इसी के साथ तीन मकानों के पते पर ही पांच सौ से ज्यादा मतदाताओं के नाम हैं। इस शिकायत पर जांच भी करवाई गई, लेकिन जांच में क्या मिला, इसका खुलासा अब तक राज्य निर्वाचन आयोग ने नहीं किया गया है। ऐसे में भाजपा ने इस बूथ को लेकर अपनी अलग रणनीति बनाई है।

7 लाख मतदाता करेंगे मतदान

आम चुनाव एवं उपचुनाव के तहत नगरीय निकायों के 385 वार्डों में 1,035 मतदान केन्द्रों में वोट डाले जायेंगे। नगर पालिकाओं के आम निर्वाचन में 3 लाख 87 हजार 530 पुरूष मतदाता, 3 लाख 90 हजार 843 महिला मतदाता, 47 अन्य मतदाता, कुल 7 लाख 78 हजार 420 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। उप निर्वाचन में 12 हजार 689 पुरूष मतदाता, 13 हजार 75 महिला मतदाता, 3 अन्य मतदाता, कुल 25 हजार 767 मतदाता निर्वाचन में हिस्सा लेंगे। आयोग की ओर से मतदाताओं के फोटोयुक्त निर्वाचक नामावली तैयार कराया गया है। मतदान के लिए आम निर्वाचन के लिए कुल मतदान केन्द्र 1,000 तथा उप निर्वाचन के लिए कुल 35 मतदान केन्द्र निर्धारित किए गए हैं।

बीरगांव में कुल 95 मतदान केंद्र है इसका अर्थ है कि 95 सहायता केंद्र बनेंगे और तदनुरूप 95 महिला अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जा रही है।

"बीरगांव में प्रत्येक मतदान केंद्र में पृथक से सहायता केंद्र बनाए गए हैं..इनमें महिलाओं की ड्यूटी लगाई जा रही है.. किसी महिला की पहचान में यदि आपत्ति जताई जाएगी तो महिला अधिकारी जाँच करेंगी"

उप निर्वाचन अधिकारी -उमेश अग्रवाल

Next Story