Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना का कहर थमा, सरकारी अस्पतालों में अब तक शुरू नहीं हुई शाम की ओपीडी

प्रदेश में कोरोना के केस कम होने के बाद एक बार फिर बंद हो चुकी योजनाओं को शुुरू करने की तैयारी की जा रही है। इसमें सरकारी अस्पतालों में संचालित होने वाली शाम की ओपीडी भी है। पहली लहर की शुरुआत के पहले कामगार वर्ग को राहत देने के लिए शाम को दो घंटे जिला अस्पताल समेत अन्य स्वास्थ्य केंद्रों में ओपीडी की सुविधा दी गई थी।

कोरोना का कहर थमा, सरकारी अस्पतालों में अब तक शुरू नहीं हुई शाम की ओपीडी
X

रायपुर. प्रदेश में कोरोना के केस कम होने के बाद एक बार फिर बंद हो चुकी योजनाओं को शुुरू करने की तैयारी की जा रही है। इसमें सरकारी अस्पतालों में संचालित होने वाली शाम की ओपीडी भी है। पहली लहर की शुरुआत के पहले कामगार वर्ग को राहत देने के लिए शाम को दो घंटे जिला अस्पताल समेत अन्य स्वास्थ्य केंद्रों में ओपीडी की सुविधा दी गई थी।

प्रदेश में दिसंबर 2019 में सभी शासकीय जिला और सिविल अस्पताल के साथ सामुदायिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में शाम की दो घंटे की ओपीडी शुरू की गई थी। उस दौरान स्वास्थ्य विभाग को चिकित्सकों के विरोध का सामना करना पड़ा था, हालांकि बाद में व्यवस्था सामान्य हो गई थी और सुबह से काम पर जाने वाले लोग अपनी बीमारी का उपचार शाम को भी स्वास्थ्य केंद्रों में जाकर कराने लगे थे। दो माह बाद कोरोना की दस्तक हो गई और शाम के साथ दिन की ओपीडी व्यवस्था भी अस्थायी रूप से बंद कर दी गई थी। पहली के बाद दूसरी लहर भी खत्म होने के कगार पर आ चुकी है। सभी अस्पतालों में सुबह की ओपीडी तो शुरू हो गई है, मगर शाम की ओपीडी का संचालन अब तक शुुरू नहीं हो पाया है, जिसकी वजह से लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है।

पैथॉलाजी सेवा भी हुआ था अपडेट

शाम की ओपीडी के साथ उस दौरान पैथालॉजी, बायोकेमिस्ट्री और रेडियोलॉजी विभाग की सुविधाओं को अपडेट किया गया था और चौबीस घंटे की जांच के साथ उसी दिन रिपोर्ट देने की सुविधा दी गई थी। शाम की ओपीडी बंद होने के साथ ही इन सुविधाओं पर भी विराम लग गया था। अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि सभी योजनाओं को पुन: शुरू करने की तैयारी की जा रही है।

डीके अस्पताल में तैयारी

सरकारी अस्पतालों के साथ गंभीर बीमारियों का इलाज करने वाले डीके अस्पताल में भी शाम की ओपीडी शुरू करने की तैयारी की जा रही है। अस्पताल सूत्रों के मुताबिक इस प्रस्ताव को आने वाले दिनों में स्वशासी समिति की बैठक में रखा जाएगा। शाम की ओपीडी की व्यवस्था एम्स में है, मगर कोरोनाकाल में लोगों को यहां भी सुविधा नहीं मिल रही है।

और पढ़ें
Next Story