Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना में समाज कल्याण का ऐसा हाल, बैसाखी और श्रवण यंत्र तक डंप, डिमांड ही नहीं

लॉकडाउन ने समाज कल्याण विभाग के उपकरण व जरूरत की अन्य सामग्रियों के बांटने के पूरे सिस्टम को ही गड़बड़ा दिया है। आलम यह है कि श्रवण यंत्र से लेकर बैसाखी तक स्टॉक में डंप हो गए हैं। इनकी डिमांड नहीं होने की वजह से समाज कल्याण विभाग में जाम है।

कोरोना में समाज कल्याण का ऐसा हाल, बैसाखी और श्रवण यंत्र तक डंप, डिमांड ही नहीं
X

समाज कल्याण विभाग (प्रतीकात्मक फोटो)

लॉकडाउन ने समाज कल्याण विभाग के उपकरण व जरूरत की अन्य सामग्रियों के बांटने के पूरे सिस्टम को ही गड़बड़ा दिया है। आलम यह है कि श्रवण यंत्र से लेकर बैसाखी तक स्टॉक में डंप हो गए हैं। इनकी डिमांड नहीं होने की वजह से समाज कल्याण विभाग में जाम है। पिछले साल जितने उपकरण और सामग्री का वितरण हुआ था इस साल डिमांड में उससे 50 फीसदी तक कमी आई है।

बता दें कि समाज कल्याण विभाग के खाते में 110 श्रवण यंत्र शेष रह गए हैं जिसमें जरूरतमंदों के आवेदनों की तलाश है। यही नहीं बैसाखी के मामले में इसकी संख्या 50 तक है। जिले में पिछले साल का रिकार्ड देखा जाए तो 2020-21 में ही 226 लोगों ने श्रवण यंत्र का प्रयोग किया है। इतने यंत्र विभाग से लिए गए हैं। बैसाखी के मामले में 64 लोगों के आवेदन पर उन्हें लाभान्वित किया गया है।

वर्ष 2021-22 के खाते में फिलहाल जरूरतमंद लोगों के आवेदनों का टोटा है। इसलिए विभाग की ओर से सामग्री बांटने की मुहीम ठंडे बस्ते में है। इतने कम सामग्रियों के लिए भी जरूरतमंद नहीं मिले हैं। विभागीय अफसरों का कहना है कि जिस तरह से डिमांड आएगी उस हिसाब से उन्हें लाभ पहुंचाया जाएगा।

ऐसा है रिकार्ड

ट्राइसिकल

2020 में 66 का वितरण, 2021 में सिर्फ 3

श्रवण यंत्र

2020 में 226 का वितरण, 2021 में सिर्फ 25

बैसाखी

2020 में 64 का वितरण, 2021 में एक भी नहीं

वॉकर

2020 में 18 का वितरण, 2021 में एक भी नहीं

स्मार्टफोन

2020 में 125 का वितरण, 2021 में एक भी नहीं

एमआरकीट

2020 में 10 का वितरण, 2021 में एक भी नहीं

मोटराइज्ड ट्रायसायकल

2020 में 75 का वितरण, 2021 में एक भी नहीं

जनप्रतिनिधियों की सिफारिश पर वितरण

विभागीय स्तर पर मालूम हुआ है, समाज कल्याण विभाग की ओर से चलाई जा रही योजनाओं में जनप्रतिनिधियों की डिमांड पर वार्ड या फिर विधानसभा क्षेत्र में सामग्रियों का वितरण किया जा रहा है। विधायक कोटे से सामग्रियों की भारी भरकम डिमांड है। विभाग में सीधे चल रही स्कीमों से जरूरतमंद बहुत दूर हैं।

डिमांड के हिसाब से वितरण

जरूरतमंदों को डिमांड के हिसाब से सामग्रियों का वितरण किया जा रहा है। जैसे आवेदन आ रहे हैं उस हिसाब से उन्हें सामग्रियां उपलब्ध कराई जा रही है।



Next Story