Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बाथरूम की खिड़की तोड़कर तीसरे माले से कूदा कोरोना मरीज, मौत

एम्स के तीसरे माले से कूदकर एक कोरोना मरीज ने अपनी जान दे दी है। घटना गुरुवार दोपहर लगभग 12 बजे की है। मृतक 49 वर्षीय मुरलीधर मूलत: जांजगीर का रहने वाला था। कुछ दिन पहले उसकी तबीयत अचानक ही खराब हो गई। इसके बाद मुरलीधर की कोरोना जांच की गई। कोरोना पाॅजिटिव आने पर उनका उपचार किया जा रहा था।

बाथरूम की खिडकी तोडकर तीसरे माले से कूदा कोरोना मरीज, मौत
X

एम्स अस्पताल रायपुर (फाइल फोटो)

एम्स के तीसरे माले से कूदकर एक कोरोना मरीज ने अपनी जान दे दी है। घटना गुरुवार दोपहर लगभग 12 बजे की है। मृतक 49 वर्षीय मुरलीधर मूलत: जांजगीर का रहने वाला था। कुछ दिन पहले उसकी तबीयत अचानक ही खराब हो गई। इसके बाद मुरलीधर की कोरोना जांच की गई।

इसमें पॉजिटिव पाए जाने के बाद 22 नवंबर को रायपुर एम्स में भर्ती कराया गया। भर्ती किए जाने के चार दिनों के भीतर ही उसने अपनी जान दे दी। मरीज के नीचे कूदते ही हड़कंप मच गया।

एम्स प्रबंधन के अनुसार, मृतक के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा था। इलाज के दौरान उसे ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ी थी, लेकिन बुधवार रात ही ऑक्सीजन हटा दिया गया था। उसे सामान्य वार्ड में ही रखा गया था। गुरुवार 11.30 बजे चिकित्सक उसका रूटीन चेकअप करने पहुंचे।

इस दौरान भी वो पूरी तरह से सामान्य था। डॉक्टरों के चेकअप करके जाने के बाद वह बाथरूम गया। दरवाजे को अंदर से बंद करने के बाद बाथरूम की खिड़की तोड़कर वहां से छलांग लगा दी।

सामान्य था व्यवहार

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, मृतक का व्यवहार पहले दिन से ही सामान्य था। उपचार या बातचीत के दौरान कभी भी ऐसा नहीं लगा कि उसके द्वारा इस तरह का कोई कदम उठाया जा सकता है। मानसिक स्थिति भी पूरी तरह से संतुलित नजर आती थी। काेरोना के गंभीर लक्षण उसमें नहीं थे।

एक-दो दिनों में उसे डिस्चार्ज किए जाने की तैयारी थी। इसके बाद भी मृतक द्वारा आत्महत्या जैसा कदम क्यों उठाया गया, यह स्पष्ट नहीं हो सका है। आमानाका थाना पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही है।

बाथरूम का दरवाजा अब तक नहीं खोला गया है। पुलिस ने बाथरूम तथा नीचे घटनास्थल काे सील कर दिया है। मृतक के परिजनों के आने के बाद ही उनकी उपस्थिति में दरवाजा खोला जाएगा।

बुजुर्ग ने लगाई थी छलांग, इसके बाद लगाए गए थे ग्रिल

एम्स में कोरोना मरीज के आत्महत्या की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले अगस्त में भी एक बुजुर्ग ने कूदकर अपनी जान दे दी थी। रायपुर के लालपुर में रहने वाले 65 वर्षीय मरीज ने भी तीसरे मंजिल के बाथरूम से ही छलांग लगाई थी। उसकी भी मौके पर ही मौत हो गई थी। इस घटना के पहले तक एम्स के बाथरूम में सिर्फ फ्रेम ही था।

आत्महत्या की घटना के बाद ही एम्स के बाथरूम की खिड़ियों में ग्रिल लगाई गई थी। यह एल्यूमिनियम की थी, जिसे स्क्रू की मदद से कसा गया था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, मृतक शारीरिक रूप से मजबूत था। एल्यूमिनियम की छड़ को बलपूर्वक खींचा गया, जिसके कारण वह निकल गया।

ऑन स्पॉट मृत्यु

खिड़की से कूदने के बाद मृतक को तुरंत ही आयुष ब्लाक के आईसीयू में ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। ऑन स्पॉट ही मरीज की मृत्यु हो चुकी थी।


Next Story