Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रदेश में कोरोना संक्रमण बढ़ा: सीएम ने कहा- विदेशों से आवाजाही पर रोक, पहली और दूसरी गलतियों से सबक ले केंद्र सरकार

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर प्रदेश में डर का महौल हो गया है। वहीं इस पर चिंता जाताते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विदेशों से आवाजाही को नियंत्रित करने की मांग उठाई है। और क्या-क्या कहा सीएम...पढ़िये खबर में...

प्रदेश में कोरोना संक्रमण बढ़ा: सीएम ने कहा- विदेशों से आवाजाही पर रोक, पहली और दूसरी गलतियों से सबक ले केंद्र सरकार
X

रायपुर। राजधानी रायपुर में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर प्रदेश में डर का महौल हो गया है। वहीं इस पर चिंता जताते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विदेशों से आवाजाही को नियंत्रित करने की मांग उठाई है। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा है, जिन-जिन देशों में कोरोना का नया वैरिएंट मिला है, वहां से यात्रीयों के आवाजाही पर रोक लगानी चाहिए। उन्होंने कहा कि, केंद्र सरकार को संक्रमण की शुरुआत और दूसरी लहर के दौरान हुई गलतियों से काफी सबक लेने की सलाह दी।

मुख्यमंत्री बघेल ने इस पर रायपुर में पत्रकारों से चर्चा में कहा, कि पहली लहर के समय ही आवाजाही रोक दी होती तो हमें इतना नुकसान नहीं होता। तब तो "नमस्ते ट्रंप' करा रहे थे। "नमस्ते ट्रंप' और मध्य प्रदेश में सरकार गिराने के चक्कर में उन्होंने देरी की, जिसका नुकसान पूरे देश को भुगतना पड़ा। मुख्यमंत्री ने कहा, तीसरे वैरिएंट के लिए पहली और दूसरी गलती से सबक ले लेना चहिए। जहां भी जिस देश में भी नया वैरिएंट मिल रहा है वहां से आवाजाही रोक दी जाए। अंतरराष्ट्रीय आवागमन को नियंत्रित किया जाए और वहां से लौटे लोगों की चेक किया जाए। कोरोना संक्रमण की शुरुआत में "नमस्ते ट्रंप' जैसे आयोजनों पर कांग्रेस पार्टी शुरू से ही हमलावर रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ऐसा कई बार कह चुके हैं।

चिंताजनक होती जा रही स्थिति

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की स्थिति चिंताजनक होती जा रही है। रविवार को संक्रमण की दर सामान्य दिनों से दोगुनी हो गई। 24 घंटों में केवल 12,996 नमूनों की जांच के बाद 30 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इस मान से पॉजीटिविटी रेट 0.23% हो गया। एक दिन पहले तक यह दर 0.12% ही थी। रविवार को प्रदेश भर में कोरोना के 30 नये मरीज मिले है। इनमें से 14 मरीज रायपुर और दुर्ग जिलों में पाये गए है। कोरोना की दूसरी लहर के समय भी यह दोनों जिले बुरी तरह प्रभावित हुए थे। रायगढ़ और कोरबा में 3-3 मरीज मिले हैं। शनिवार को रायगढ़ में 10 मरीज मिले थे। बिलासपुर और धमतरी में 2-2 और बालोद, बलौदा बाजार, महासमुंद, जांजगीर-चांपा, दंतेवाड़ा और कांकेर में एक-एक मरीज की पुष्टि हुई है।

मामलों की संख्या 330

अगस्त के बाद पहली बार मरीजों को अधिक बेहतर इलाज की जरूरत महसूस की जा रही है। बताया जा रहा है, कुछ मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराना पड़ा है। इस समय प्रदेश भर में सक्रिय मामलों की संख्या 330 हो गई है। मार्च 2020 से अब तक प्रदेश के 10 लाख 6 हजार 763 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। वहीं इस महामारी की वजह से 13 हजार 593 लोगों की जान जा चुकी है। मौतों का क्रम अब भी जारी है। हालांकि अभी तक कोरोना से किसी मरीज की मौत नहीं हुई है।

Next Story