Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दस दिन के भीतर प्रदेश में कोरोना संक्रमित हो जाएंगे 1000000

केस भले ही कम हो गए हैं मगर कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। रोजाना तीन सौ से ज्यादा मामले प्रदेश में सामने आ रहे हैं उसके हिसाब से अगले दस दिन के भीतर प्रदेश में अब तक कोरोना संक्रमित होने वालों की संख्या दस लाख हो जाएगी। विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले अच्छे दिन के लिए सा‌वधान रहने की जरूरत है।

दस दिन के भीतर प्रदेश में कोरोना संक्रमित हो जाएंगे 1000000
X

केस भले ही कम हो गए हैं मगर कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। रोजाना तीन सौ से ज्यादा मामले प्रदेश में सामने आ रहे हैं उसके हिसाब से अगले दस दिन के भीतर प्रदेश में अब तक कोरोना संक्रमित होने वालों की संख्या दस लाख हो जाएगी। विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले अच्छे दिन के लिए सा‌वधान रहने की जरूरत है।

प्रदेश में कोरोना की शुरुआत 18 मार्च 2020 को हुई थी, इसके बाद लगातार संक्रमण का मामला बढ़ता चला गया। नौ माह में इस वायरस ने 2.79 लाख से ज्यादा लोगों को अपनी चपेट में ले लिया था। इसके बाद चार माह तक कोरोना की रफ्तार बेहद सुस्त रही। अप्रैल में इसकी दूसरी लहर की शुरुआत हुई और दो माह में इसने संक्रमण और इससे होने वाली मौत के सारे रिकार्ड तोड़ डाले। तीस मई तक कोरोना के कुल मामले 9.69 लाख से ज्यादा हो गए।

इसके बाद दूसरी लहर तो खत्म हो गई मगर कोरोना खत्म नहीं हुआ। कभी बेहद कम तो कभी मध्यम तरीके से कोरोना अभी भी लोगों को अपना शिकार बना रहा है। पिछले कुछ समय से प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या तीन सौ से अधिक आ रही है और कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 9.97 लाख के ज्यादा हो चुकी है। कोरोना की यही रफ्तार रही तो आने वाले दस दिनों के भीतर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या दस लाख से अधिक हो जाएगी। विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले दिनों में कोरोना वायरस खतरनाक साबित ना हो इसके लिए सावधान रहना जरूरी है।

मौतें हो रहीं

कोरोना संक्रमण कम हो चुका है, मगर इसकी वजह से अभी भी मौत हो रही है। दूसरी लहर के बाद कोरोना से होने वाली मौत की संख्या प्रदेश में एक तक पहुंच चुकी है और इसके शून्य होने का इंतजार किया जा रहा है। प्रदेश में पहली लहर के नौ माह में 3550 लोगों ने दम तोड़ा था मगर दूसरी लहर से लेकर अब तक कुल आंकड़ा 13 हजार के पार हो चुका है।

अभी भी 45 सौ एक्टिव

प्रदेश में अभी कोरोना संक्रमण का इलाज कराने वालों की संख्या 45 सौ से अधिक है। इनमें से ज्यादातर घरों में रहकर अपना इलाज करवा रहे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि जब तक एक्टिव केस शून्य ना हो जाए, तब तक इस बात का दावा नहीं किया जा सकता कि कोरोना खत्म हो चुका है। संक्रमितों की पहचान के लिए अभी भी जांच पर जोर दिया जा रहा है।

सजग रहना जरूरी

कोरोना के मामले कम हुए हैं मगर रोजाना नए केस कुल संख्या में दर्ज किए जा रहे हैं जो आने वाले दिनों में दस लाख होने का अनुमान है। कोरोना से बचाव के लिए अभी सजग रहना जरूरी है।





Next Story