Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अनुकंपा नियुक्ति में बिचौलियों की खैर नहीं, भूपेश बघेल ने कहा- शिकायत पर होगी कड़ी कार्रवाई

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य सरकार शासकीय सेवकों के दुःख-सुख की हर घड़ी में उनके साथ खड़ी है। वैश्विक महामारी से प्रदेश के कई शासकीय सेवकों की मौत भी हुई है। हम कर्मचारियों के हित में अनुकंपा नियुक्ति का निर्णय लेकर उन्हें हरसंभव राहत पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं।

अनुकंपा नियुक्ति में बिचौलियों की खैर नहीं, भूपेश बघेल ने कहा- शिकायत पर होगी कड़ी कार्रवाई
X

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य सरकार शासकीय सेवकों के दुःख-सुख की हर घड़ी में उनके साथ खड़ी है। वैश्विक महामारी से प्रदेश के कई शासकीय सेवकों की मौत भी हुई है। हम कर्मचारियों के हित में अनुकंपा नियुक्ति का निर्णय लेकर उन्हें हरसंभव राहत पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं। अनुकंपा नियुक्ति में बिचौलियों के सक्रिय होने की शिकायतों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि किसी भी प्रकार की लापरवाही या दलाली की शिकायत मिली तो वे कठोर कार्रवाई करेंगे।

छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री निवास में भेंटकर शासकीय कर्मियों की अनुकंपा नियुक्ति में तृतीय श्रेणी के पदों पर दस प्रतिशत सीलिंग हटाने के ऐतिहासिक निर्णय पर आभार जताया और उनका अभिनंदन किया। फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक कमल वर्मा ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण से 940 से अधिक शासकीय सेवकों की मौत को लेकर फेडरेशन ने सरकार से अनुकंपा नियुक्ति में सीलिंग को हटाने का मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया था। फेडरेश की मांग पर राज्य सरकार ने सीलिंग 31 मई 2022 तक शिथिल करने का निर्णय लिया। फेडरेशन ने इस निर्णय के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित किया।

इन मांगों पर दिया ज्ञापन

शासकीय सेवकों की मांगों के निराकरण के लिए फेडरेशन ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी बनाने सीएम को पुनः ज्ञापन दिया है। शासकीय सेवकों ने लंबित पांच प्रतिशत महंगाई भत्ता की मांग की। कोरोना से संक्रमित शासकीय सेवकों के परिवार के सदस्यों का इलाज शासन द्वारा बनाए गए कोविड केयर सेंटर में किया गया था। सीएम से इलाज में किए गए खर्च का प्रतिपूर्ति देयक का भुगतान का आदेश जारी करने का अनुरोध किया।

अनुकंपा नियुक्ति में पति / पत्नी से दिवंगत कर्मचारी के आश्रित, सहायक शिक्षक के पदों में नियुक्ति के लिए बीएड, डीएड, टीईटी की अनिवार्यता को शिथिल कर सहायक शिक्षक विज्ञान के पद पर नियुक्ति के मामलों में वित्त विभाग द्वारा जारी करने की मांग भी की गई। इस मौके पर फेडरेशन की 14 सूत्रीय मांगों का निराकरण करने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी बनाने की मांग भी की।


Next Story