Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के बड़े चोर गिरोह का पर्दाफाश : 41 जगहों से चुराए 65 लाख का सोना, 7 किलो चांदी और पता नहीं क्या-क्या...

छत्तीसगढ़ के 41 अलग-अलग जगहों पर सुनियोजित तरीके से सूने मकानों में चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफॉश हो गया है। करीब 65 लाख का सोना, 7 किलो चांदी, 1 लाख नगद बरामद किया है। शहरी क्षे़त्र के लगभग 41 चोरियों का खुलासा किया गया है। पढ़िये पूरी खबर-

छत्तीसगढ़ के बड़े चोर गिरोह का पर्दाफाश : 41 जगहों से चुराए 65 लाख का सोना, 7 किलो चांदी और पता नहीं क्या-क्या...
X

दर्ग। छत्तीसगढ़ के 41 अलग-अलग जगहों पर सुनियोजित तरीके से सूने मकानों में चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफॉश हो गया है। करीब 65 लाख का सोना, 7 किलो चांदी, 1 लाख नगद बरामद किया है। शहरी क्षे़त्र के लगभग 41 चोरियों का खुलासा किया गया है। चोरी के मामले का मुख्य आरोपी अनवर खान गिरफ्तार सहित पुलिस ने 6 अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। मामला नेवई थाना क्षेत्र का है। आईजी दुर्ग रेंज ओ पी पाल ने मामले का खुलासा किया है। सरकंडा बिलासपुर से मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।

दरअसल, पिछले 3-4 वर्षो से शहरी क्षेत्र में गिरोह ने बड़ी-बड़ी चोरी की घाटना के अंजाम दिया है जिसका खुलासा अब जा कर हो रहा है। ये गिरोह पहले कचड़ा उठाने के नाम पर सूने मकानों की जांच करते थे। फिर चोरी करने के लिए करते थे प्लान। दुर्ग, भिलाई शहर में चोरी के कई अपराधों का पता लगाने के लिए पुलिस महानिरीक्षक ने विशेष टीम गठित की फिर पुलिस ने आरोपियों के गिरफ्तारी के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा था।

ऐसे पकड़ा गया गिरोह को..

वर्ष 2021 दिसम्बर माह में अवधपुरी रिसाली में प्रार्थी गौतम भट्टाचार्य के सूने मकान में रात में गिलाह ने घर का ताला तोड़कर घर में रखें सोने चांदी के जेवरात एवं नगदी रकम को चोरी कर ले गये थे। मामले की जांच के दौरान पुलिस टीम ने लगातार सीसीटीवी कैमरों की जांच की, सीसीटीवी कैमरा के फुटेजों में संदिग्धों की पहचान कर मुखबीर लगाया गया। उसी दौरान एत मुखबीर से खबर मिली की संदिग्ध हुलिये के व्यक्ति श्याम नगर रिसाली गॉव में एक मकान किराये पर लेकर रहते है। जो अक्सर रात में आना-जाना करते है इनकी उपस्थिति दिन के समय नहीं होती है रात के समय में ही 3-4 लोग संदिग्ध रूप से विचरण करते रहते है। तब सूचना की तस्दीक पर उक्त किराये के मकान में अनवर खान अपने साथी सागर सेन, द्वारिका दास के साथ रहना पता चला।

पुलिस टीम द्वारा अनवर व उसके अन्य साथियों पर एवं उनके दिनचर्या पर नजर रखा जा रहा था, तस्दीक के दौरान पता चला कि अनवर खान अपने साथियों के साथ निकलता था लेकिन फिर सभी अलग-अलग होकर अलग-अलग साधनों से एक निश्चित स्थान पर मिलते थे उसके बाद उस ईलाके में मोटर सायकल व सायकल से सूने मकानों व उसके आसपास की रेकी करते थे।

पूछताछ में सभी व्यक्ति अपने काम, रहन सहन व उपस्थिति के संबंध में गोलमोल जवाब देने लगे, जिस पर उन्हें थाना नेवई लाकर पूछताछ की गई पूछताछ के दौरान आरोपीगणों द्वारा विगत 3-4 वर्षो से एक साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से थाना नेवई, चौकी पद्नाभपुर व थाना पुलगॉव क्षेत्रान्तर्गत सूने मकानों में नकबजनी, सेंधमारी कर सोने चांदी के जेवरातों व नगदी रकम की चोरी का अपराध करना कबूल किया। देखिये वीडियो-



Next Story