Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म में रिलीज होंगी छत्तीसगढ़ी फिल्में, कम पात्रों वाली स्क्रिप्ट और वेब सीरीज पर जोर

कोरोना ने बदल दिया प्रदेश में फिल्म निर्माण का ट्रेंड, अब बॉलीवुड तर्ज पर प्रयोग की तैयारी

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म में रिलीज होंगी छत्तीसगढ़ी फिल्में, कम पात्रों वाली स्क्रिप्ट और वेब सीरीज पर जोर
X

रायपुर. कुछ फिल्म प्रोडक्शन इन दिनों एल्बम सॉन्ग, शाॅर्ट फिल्म व सरकार की योजना व कोरोना जारूकता आधारित शूटिंग कर रहे हैं। कोरोना के कारण शूटिंग करने का तरिका भी बदल गया है। लोग सरकार के नियमों का पालन करते हुए काम कर रहे हैं। शूटिंग के दौरान केवल कलाकारों काे छाेड़ निर्माता, कैमरा मेन व टेक्निकल टीम पूरे समय मास्क पहने काम कर रही हैं। निर्माताओं ने बताया, शूटिंग से पहले लोकेशन काे पूरी तरह से सेनेटाइज किया जाता है। इसके अलावा कलाकार घर से ही उपयोग में आने वाली चीज ला रहे हैं। कुछ निर्माता फिल्म में कम लोगों वाले सीन काे पहले शूट कर रहे हैं, ताकि फिल्म बनाने का काम चलता रहे। आदेश आने के बाद बचे हुए सीन को शूट किया जाएगा।

एक-दो कलाकार वाली ही स्क्रिप्ट

फिल्म शूटिंग के लिए 20 से 30 लोगों की टीम होती है। संक्रमण के कारण सीमित लोगों के साथ निर्माता काम कर रहे हैं। उर्वशी एंटरटेनमेंट प्रोडक्शन की संचालक उर्वशी साहू का कहना है, इन दिनों काॅमेडी फिल्म शूट कर रहे हैं, जिसमें केवल दो कलाकार ही काम कर रहे हैं। संक्रमण के कारण लोकेशन भी शहर से दूर राजनांदगांव के समीप एक गांव में रखा गया है। शूटिंग गांव से दूर एकांत में किया जा रहा है, ताकि किसी को संक्रमण ना हो। इन दिनों में शूटिंग में केवल 7-8 लाेग पहुंच रहे हैं। भीड़ कम करने एक ही कैमरा इस्तेमाल कर रहे हैं। जितने ज्यादा कैमरे होंगे, टीम उतनी बढ़ती है। कलाकारों काे निर्देश दिया है कि खाना और पानी घर से लाएं। लोकेशन को हर दिन सेनेटाइज किया जा रहा है। इसके अलावा इन दिनों सरकार की योजनाओं और काेरोना आधारित जागरूकता वीडियो बनाने का काम चल रहा है। सरकार के आदेश के बाद फिल्म बनाने का काम शुरू करेंगे।

सितंबर से शुरू होगी वेब सीरीज

लॉकडाउन में अधिकतर निर्माताओं ने अपनी फिल्म की रूपरेखा तैयार कर ली है, जाे आदेश के बाद शूटिंग शुरू करेंगे। शहर के फिल्म निर्माता शेखर सोनी ने बताया, सिंतबर माह में वेब सीरीज की शूटिंग शुरू हाेगी जो मानव तस्करी पर अधारित होगी। यह हिंदी भाषा में होगी, जिसे ऑनलाइन फॉर्मेट में रिलीज किया जाएगा। फिल्म बनाने में अधिक लोगाें की आवश्यकता होती है, अभी आदेश नहीं आया है। सरकार के निर्देश के अनुसार रायपुर में शूटिंग की जाएगी। कलाकार चयन, संगीत समेत अन्य कार्य हो चुके हैं।

आदेश के बाद शुरू होगा काम

कोरोना संक्रमण में फिल्म बनाने का काम पूरी तरह बंद है। छत्तीसगढ़ी व भोजपुरी फिल्म के निर्माता सतीश जैन का कहना है, नई फिल्म बनाने के लिए तैयारी हो चुकी है। अब केवल सरकार के आदेश आने का इंतजार है। उनका कहना है, लॉकडाउन में नई फिल्म के बारे में सोचने का काफी समय मिला है। फिल्मों को बेहतर बनाने के लिए नए प्रयोग किए जाएंगे, जो दर्शक को फिल्म और भी रोमांचित करेगी।

एक कमरे में बना रहे हैं एल्बम

संक्रमण की वजह से शूटिंग आउटडोर ना होकर इंडोर हो चुकी है। डायरेक्टर मोहन सुंदरानी ने बताया, यूट्यूब में छत्तीसगढ़ी गीत व फिल्म के 14 चैनल हैं। इसमें हर सप्ताह वीडियो अपलोड करने होते हैं। लॉकडाउन शुरू होने के बाद कुछ दिन शूटिंग बंद रही। फिर सरकार के नियमों के अनुसार एक कमरे में कम कलाकारों के साथ शूटिंग शुरू किया। तीन माह में 60 से अधिक छत्तीसगढ़ी पर्व पर आधारित वीडियो बना चुका हूं। शूट में सिर्फ 6 से 7 मेंबर्स ही शामिल हो रहे हैं, जिसमें एक कैमरापर्सन, एक असिस्टेंट और बाकी कलाकार हैं। स्टूडियाे सेनेटाइज करने के बाद ही रिकाॅर्डिंग शुरू करते हैं। ग्रीन परदे के आगे शूटिंग कर रहे हैं। क्राेमा तकनीक से वीडियाे एडिट कर बैकग्राउंड सीन को बदल रहे हैं। संक्रमण के कारण अभी बाहरी लाेकेशन पर शूटिंग खतरा है। अक्सर शूटिंग देखने भीड़ जुट जाती है। हरेली गीत व सावन महीने के लिए लगभग 14 गानों की शूटिंग हो चुकी है।

छत्तीसगढ़ का पहला मिनी टॉकीज

शहर के टॉकीज कब शुरू हाेंगे यह अभी तक तय नहीं है। शुरू होने के बाद भी लोगों को नियमों का पालन करते हुए फिल्म देखनी होगी। प्रदेश में कई निर्माता की फिल्म बनकर तैयार है, लेकिन संक्रमण की वजह से अभी तक रिलीज नहीं हुई है। शहर के शब्बीर कुमार ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर मिनी टाॅकिज शुरू किया है, जिसमें निर्माता अपनी फिल्म को निर्धारित शुल्क पर अपलोड कर सकते है। देखने वाले लोग ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए फिल्म का शुल्क देकर इसे देख सकेंगे। उनका कहना है, इस वेबसाइट को बनाने का उद्देश्य छत्तीसगढ़ी फिल्मों को प्रोत्साहन देना है। आने वाले दिनों में टॉकीज शुरू होने के बाद भी लोग कम संख्या में लोग फिल्म देखने पहुंचेंगे। कोरोना पाए जाने पर टॉकीज बंद हो सकता है, ऐसे में फिल्में नहीं चल पाएंगी। इस माध्यम में निर्माता ऑनलाइन फिल्म अपलोड कर अधिक लाेगों तक अपनी फिल्म पहुंचा सकते हैं।

Next Story