Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑनलाइन फ्रॉड : पुराने मोबाइल का IMEI नंबर बदलकर, नया बताकर करते थे एक्सचेंज, गैंग गिरफ्तार

पिछले 6 माह से फ्लिपकार्ट कंपनी की ओर से एक्सचेंज ऑफर चलाया जा रहा है। ऑफर में ग्राहकों से पुराने मोबाइल लेकर उन्हें नया मोबाइल दिया जा रहा था। रोशन खान ने पुलिस पूछताछ में बताया कि चकरभाठा क्षेत्र से 50 से ज्यादा मोबाइल एक्सचेंज कर नया मोबाइल लिया गया है। पढ़िये पूरी खबर-

ऑनलाइन फ्रॉड : पुराने मोबाइल का IMEI नंबर बदलकर, नया बताकर करते थे एक्सचेंज, गैंग गिरफ्तार
X

बिलासपुर। बिलासपुर पुलिस धोखाधड़ी (Fraud) करने वाले एक गैंग को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी फ्लिपकार्ट कंपनी के ऑफर का लाभ लेने के लिए पुराने मोबाइल का IMEI नंबर बदल देते और उसे नया बताकर एक्सचेंज कर लेते थे। इस गैंग के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने कंपनी की ओर से धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है। पुलिस शुक्रवार को इस मामले का खुलासा कर सकती है।

सिविल लाइन क्षेत्र के मिनीमाता नगर के नागदौने कालोनी निवासी 28 वर्षीय रोशन खान फ्लिपकार्ट के लाजिस्टिक कंपनी विली में हब इंचार्ज हैं। सरकंडा के मोपका के मारुति शो रूम के पास उनका ऑफिस है। पिछले 6 माह से कंपनी की ओर से एक्सचेंज ऑफर चलाया जा रहा है। ऑफर में ग्राहकों से पुराने मोबाइल लेकर उन्हें नया मोबाइल दिया जा रहा था। रोशन खान ने पुलिस पूछताछ में बताया कि चकरभाठा क्षेत्र से 50 से ज्यादा मोबाइल एक्सचेंज कर नया मोबाइल लिया गया है।

साफ्टवेयर के जरिये बदलते थे IMEI नंबर

एक्सचेंज वाला मोबाइल जब कंपनी के हेड ऑफिस पहुंचा और उसकी जांच की गई, तब पता चला कि साफ्टवेयर बदलकर पुराने मोबाइल का IMEI नंबर बदल दिया गया है और ऑफर का लाभ लेने के लिए कंपनी के साथ धोखाधड़ी की जा रही है। मामला सामने आने पर कंपनी ने ऑफर बंद कर दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस की साइबर सेल ने इस गिरोह के सदस्यों को पकड़ लिया है।

कम कीमत में खरीदे ग्राहकों के मोबाइल

जांच में पता चला है कि शहर में मोबाइल के साफ्टवेयर व IMEI नंबर बदलने वालों में मोबाइल रिपेयरिंग व उसके तकनीकी जानकारों ने यह कारनामा किया है। उन्होंने ग्राहकों से कम कीमत में उनके मोबाइल खरीद लिए और कंपनी के ऑफर का फायदा उठाने के लिए नए मोबाइल का साफ्टवेयर बदलकर IMEI नंबर भी बदल दिया गया। इससे उन्हें पुराने मोबाइल के बदले नया मोबाइल मिल गया और कंपनी के कर्मचारियों को इसकी भनक भी नहीं लगी। जांच में पता चला कि 50 से अधिक लोगों ने अपने पुराने मोबाइल का IMEI नंबर बदल दिया है।

अन्य हिस्सों में भी हुई धोखाधड़ी

कंपनी के अधिकारी रोशन खान ने अपनी शिकायत में बताया कि इस तरह की धोखाधड़ी देश के अन्य शहरों में भी की गई है। इसकी जानकारी होने पर कंपनी ने सभी मोबाइल की जांच शुरू कर दी है। तकनीकी जांच में राज खुलने के बाद सभी जगहों पर आपराधिक प्रकरण दर्ज कराया जाएगा।

Next Story