Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बोर खनन की खुशी इन ग्रामीणों से पूछिए, सदियों से ढोढ़ी के पानी पर आश्रित था जीवन

पेयजल की समस्या का सामना कर रहे ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने हेतु प्रशासन की पहल पर बोर खनन किया गया. प्रशासन की इस पहल के बाद सालों से पेयजल की समस्या से जूझ रहे लोगों को अब इस समस्या से निजात मिल जाएगी. पेयजल की समस्या दूर करने हेतु प्रशासन की इस पहल पर ग्रामीणों ने प्रसन्नता जाहिर की है.

बोर खनन की खुशी इन ग्रामीणों से पूछिए, सदियों से ढोढ़ी के पानी पर आश्रित था जीवन
X

सीतापुर. पेयजल की समस्या का सामना कर रहे ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने हेतु प्रशासन की पहल पर बोर खनन किया गया. प्रशासन की इस पहल के बाद सालों से पेयजल की समस्या से जूझ रहे लोगों को अब इस समस्या से निजात मिल जाएगी. पेयजल की समस्या दूर करने हेतु प्रशासन की इस पहल पर ग्रामीणों ने प्रसन्नता जाहिर की है.

ग्राम पंचायत शिवनाथपुर के कोरवापारा एवं बागरडीह मोहल्ले में हैंडपंप नही होने की वजह से वहाँ के लोग ढोढ़ी का दूषित पानी पीने को मजबूर थे. ढोढ़ी का गंदा एवं दूषित पानी पीने से उस मोहल्ले के लोग अक्सर बीमार रहा करते थे. उन्होंने अपनी इस परेशानी को लेकर कई बार सरपंच समेत अन्य जनप्रतिनिधियों को अवगत कराते हुए हैंडपंप खनन कराने की माँग की थी किंतु सभी ने उनकी मांगों को अनसुना कर दिया जाता था. सरपंच एवं जनप्रतिनिधियों की उदासीनता की वजह से उस मोहल्ले के लोग मजबूरन ढोढ़ी का दूषित पानी पीकर अभिशप्त जीवन जीने को मजबूर थे.

ग्रामीणों की इस समस्या की जानकारी जब प्रशासन को मिली तो जिला कलेक्टर ने तत्काल इस पर सकारात्मक पहल करते हुए हैंडपंप खनन के निर्देश दिए. कलेक्टर के दिशानिर्देश के बाद एसडीएम अनमोल विवेक टोप्पो ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल पीएचई की मदद से उस मोहल्ले में बोर खनन कराया. प्रशासन की पहल पर दोनों मोहल्लों में बोर खनन होते ही सालों से पेयजल की समस्या से जूझ रहे वहाँ के लोगों की समस्या दूर हो गई. ग्रामीणों ने प्रशासन की इस पहल पर ग्रामीणों ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें अब ढोढ़ी के दूषित पानी पीने की समस्या से निजात मिल जायेगी.

इस संबंध में एसडीएम अनमोल विवेक टोप्पो ने बताया कि काफी लंबे समय से ग्रामीण पेयजल की समस्या से जूझ रहे थे. मजबूरी में उन्हें ढोढ़ी का पानी पीना पड़ता था. इस संबंध में जानकारी मिलते ही मामले की गंभीरता को देखते हुए वहाँ हैंडपंप खनन कराया गया ताकि लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो सके.

Next Story