Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिलासपुर : जिला प्रशासन की बड़ी सफलता, एयरपोर्ट का पचड़ा खत्म

यह प्रयास पिछले 3 महीनों से जोरो पर चल रहा था, जिसके परिणाम के स्वरूप में विवाद पर विराम लग गया। पढ़िए पूरी खबर-

बिलासपुर : जिला प्रशासन की बड़ी सफलता, एयरपोर्ट का पचड़ा खत्म
X

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर में पिछले 9 महीनों से विवाद के पचेड़े में फंसे एयरपोर्ट के बांड्रीवाल के मसले को आखिरकार जिला प्रशासन ने अपने सार्थक प्रयासों से सुलझाने में बड़ी सफलता हासिल की है।

दरअसल बिलासपुर के चकरभाठा स्थित एयरपोर्ट का काम बड़ी तेजी से लम्बे समय से चल रहा है, लेकिन रन-वे और C- कैटेगिरी दर्जे का एयरपोर्ट तैयार करने बांड्रीवाल के निर्माण में आर्मी और डिफेन्स को लेकर जमीन अधिग्रहण का विवाद चल रहा था। जिसकी गंभीरता को देखते हुए बिलासपुर कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने राज्य सरकार के समन्वय से केंद्र सरकार के रक्षा मंत्रालय व् अन्य मंत्रालयों में पत्राचार कर विवाद के रोड़े को हटाने में बड़ी उपलब्धि हासिल की है।य

ह प्रयास पिछले 3 महीनों से जोरो पर चल रहा था, जिसके परिणाम के स्वरूप में विवाद पर विराम लग गया और वापस से बांड्रीवाल का काम शुरू कराया गया है। जिससे बिलासपुर एयरपोर्ट में हवाई सेवा अतिशीघ्र प्रारंभ हो सकेगी और बिलासपुरवासियों हवाई सेवा और उड़ान भरने का लाभ मिल सकेगा।

बता दें कि आज बुधवार को बिलासपुर कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर अपने टीम के साथ एयरपोर्ट का मुआयना करने पहुंचे और आर्मी के बीच जमीन अधिग्रहण को लेकर लम्बे समय से चल विवाद का निपटारा किया।

इस दौरान बांड्रीवाल के निर्माण कार्य को गति देते हुए काम की शुरुआत की गई। इस सम्बन्ध में बिलासपुर कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने बताया कि सालों से बिलासपुरवासियों की बहुप्रतिक्षित हवाई सेवा की मांग को देखते हुए रक्षा मंत्रालय से पिछले तीन महीने से पत्राचार किया जा रहा था। जिस पर जमीन अधिग्रहित की अनुमति मिलने पर विवाद में खत्म किया गया। हालाकि इस बाधा को हटाने के लिए जिला प्रशासन की पूरी टीम और राज्य सरकार के समन्वय ने बड़ी भूमिका निभाई है। जिससे बिलासपुर प्रशासन को लम्बे प्रयासों के बीच बड़ी उपलब्धि मिल सकी है। इसी विवाद के समाप्ति के साथ ही एयरपोर्ट को C- कैटेगिरी का दर्जा दिलाने के लिए प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है।

गौरतलब है कि बिलासपुर कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर के प्रतिवेदन पर राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने ग्राम चकरभाठा में सैन्य छावनी स्थापना हेतु प्रबंधन एवं संधारण हेतु रक्षा मंत्रालय भारत सरकार को सौंपी गई भूमि की अनुमति को निरस्त कर दिया गया है। इससे राज्य सरकार ने भी बिलासपुर में हवाई सेवा को अतिशीघ्र प्रारंभ कराने और जनभावनाओं को हवाई सेवा का लाभ दिलाने जिला प्रशासन को सहयोग प्रदान करने विकास को गति दी है।

Next Story