Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

VIDEO: बड़ी ख़बर: छापा मारने गई टीम को बंधक बनाने की ख़बरों पे पुलिस का ये बयान..

इस मशहूर संस्थान के 5 ठिकानों पर 20 घंटे कार्रवाई। 5 बैग में ज्वेलरी और दस्तावेज(Jewelery & Documents) जब्त कर छापामार टीम जब वापस जाने लगी तो टीम को बंधक(hostage) बनाने का प्रयास किया गया। इस मामले में पुलिस का कहना है, टीम की रिपोर्ट पर होगी कार्रवाई। जबकि वीडियो में सब कुछ दिख रहा। पढ़िए पूरी ख़बर...

VIDEO: बड़ी ख़बर: छापा मारने गई टीम को बंधक बनाने की ख़बरों पे पुलिस का ये बयान..
X

दुर्ग: जिले में सहेली ज्वेलर्स के ठिकानों पर छापा मारने पहुंची DRI (Directorate of Revenue Intelligence) टीम करीब 20 घंटे की जांच के बाद जब लौटने लगी तो उनके साथ झड़प हो गई। दुकान संचालकों ने टीम पर मारपीट करने का आरोप लगाते हुए उनसे धक्का मुक्की शुरू कर दी। टीम को बंधक(hostage) बनाने का भी प्रयास किया गया। सूचना मिलने पर दुर्ग पुलिस मौके पर पहुंची तो उनके साथ ही झूमाझटकी की गई। हालांकि फिर टीम के सदस्यों को वहां से बाहर निकाल लिया गया। इस पूरी घटना का वीडियो भी वायरल हो रहा है।

दरअसल। DRI की 60 सदस्यीय टीम ने गुरुवार सुबह सहेली ज्वेलर्स के 5 ठिकानों पर छापा मारा था। इनमें दुर्ग और भिलाई में दुकान। मकान और कारखाने में एक साथ कार्रवाई शुरू की गई। टीम के सदस्यों ने सहेली ज्वेलर्स के संचालक सुनील जैन और राजेंद्र जैन के परिवार को नजर बंद कर दिया। उनसे उनके मोबाइल फोन ले लिए गए और घर के अंदर से किसी को भी बाहर नहीं जाने दिया गया। टीम के सभी सदस्यों ने वहां दस्तावेज खंगाले और कई अहम दस्तावेज जब्त किए।

इस दौरान टीम ने यहां से बड़ी मात्रा में सोना और चांदी सहित उनसे बने आभूषण बरामद किए। जब अधिकारियों ने इनके दस्तावेज मांगे तो ज्वेलर्स संचालक प्रस्तुत नहीं कर पाए। इसके बाद टीम ने वहां से 5 बैग में हार्ड डिस्क। सीसीटीवी फुटेज। सहित अन्य दस्तावेज और सोना चांदी जब्त कर लिया।

देर रात करीब 1 बजे जब टीम जाने लगी तो ज्वेलर्स संचालकों ने उन्हें घेर लिया और बाहर नहीं जाने दिया। इस दौरान उनके बीच काफी बहस और झूमाझटकी भी हुई। मामला बढ़ते देख अधिकारियों ने दुर्ग पुलिस की मदद ली और किसी तरह वहां से निकले।

ज्वेलर्स संचालक ने लगाया आरोप

डीआरआई की टीम के साथ देर रात मारपीट और धक्कामुक्की की भी खबर मिलने पर दुर्ग सीएसपी जितेंद्र यादव और कोतवाली टीआई पुलिस बल लेकर मौके पर पहुंचे। उस दौरान वहां पर काफी हंगामा हो रहा था। ज्वेलर्स संचालक ने आरोप लगाया कि बिल देने के बाद भी अधिकारियों ने उनके कर्मचारी के साथ गाली-गलौज और मारपीट की है।

एसएसपी बीएन मीणा

एसएसपी बीएन मीणा का कहना है कि मारपीट की कोई शिकायत नहीं मिली है। धक्कामुक्की होने की खबर मिली थी। जब डीआरआई के अधिकारी कोई शिकायत दर्ज कराएंगे तो पुलिस उस पर कार्रवाई करेगी।

वायरल हो रहा धक्कामुक्की का वीडियो

डीआरआई और ज्वेलर्स संचालक के आदमियों के बीच धक्कामुक्की हुई है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में यह साफ दिख रहा है कि DRI की टीम को छापेमारी के दौरान अंदर जाने से रोका जा रहा है। इतना ही नहीं उनके द्वारा जब्त किए गए सोने और चांदी (Jewelery & Documents) को नहीं ले जाने दिया जा रहा है। देखिए वीडियो..
















Next Story