Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बड़ी खबर : रायपुर एम्स में भ्रष्टाचार के सबूतों वाले लैपटॉप पर साइबर अटैक, एसपी को लिखी चिट्ठी सोशल मीडिया में वायरल

वायरल हो रहे पत्र के मुताबिक, पत्र भेजने वाला राजनांदगांव निवासी महेश कुमार शर्मा हैं, जिन्होंने एसपी और टीआई को साइबर अटैक से संबंधी जानकारी दी है। पढ़िए पूरी खबर-

बड़ी खबर : रायपुर एम्स में भ्रष्टाचार के सबूतों वाले लैपटॉप पर साइबर अटैक, एसपी को लिखी चिट्ठी सोशल मीडिया में वायरल
X

रायपुर। सोशल मीडिया में इन दिनों एक ऐसा खत वारयल हो रहा है, जिसके मजमून बताते हैं कि एम्स रायपुर में एक गंभीर भ्रष्टाचार हुआ। उस भ्रष्टाचार के तमाम सबूत एक लैपटॉप में मौजूद थे, लेकिन उस लैपटॉप में मौजूद तमाम जानकारियों और सबूतों को किसी अज्ञात हैकर साइबर क्राइम के जरिए करप्ट कर दिया है।

वायरल हो रहे उस पत्र के मुताबिक, प्रेषक महेश कुमार शर्मा ने बसंतपुर (राजनांदगांव) थाना प्रभारी और राजनांदगांव एसपी को यह पूरी जानकारी दी है। महेश कुमार ने इस पत्र में एम्स रायपुर पर भ्रष्टाचार का सीधा आरोप कहीं भी नहीं लगाया है, लेकिन अपने लैपटॉप में जिन सामग्रियों पर साइबर अटैक की जानकारी दी है, यदि उसमें सच्चाई है तो एम्स रायपुर के लिए यह गंभीर बात है।

पत्र का मजमून कुछ ऐसा है –

प्रति,

श्री पुलिस अधीक्षक

राजनांदगांव, छत्तीसगढ़

प्रति,

श्री बसंतपुर थाना प्रभारी

राजनांदगांव, छत्तीसगढ़

विषय :- मेरे लैपटॉप में साईबर अटैक के संबंध में।

मान्यवर महोदय दिनांक 04.07.2020 को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स रायपुर से मुझे दो मेल प्राप्तह हुआा जिसे मैं दिनांक 11.07.2020 को समय सुबह 11.20 मिनट में रीड किया दूसरे नंबर वाले मेल को ओपन करते ही मेरे लैपटॉप में साइबर अटैक हो गया और मेरे लैपटॉप के सभी डाटा करप्ट हो गये मान्यवर महोदय मेरी शंका के अनुसार मुझे यह प्रतीत हो रहा है कि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्था न एम्सय रायपुर में एलडीसी (LDC) की भर्ती मे हुए भ्रष्टाचार के संबंध में मै कई जानकारीया एम्स रायपुर से सूचना के अधिकार से प्राप्त किया था और जो जानकारी एम्स द्वारा नही दी गई उसके लिए दितीय अपील केन्द्रीय सूचना आयोग (CIC) में किया था दिनांक 09.06.2020 को मुख्य सूचना आयुक्त माननीय बिमला जुल्का जी के साथ मेरी फाईनल हियरिंग हुई थी जिसमें मैं लैपटॉप को देख कर जवाब दे रहा था मानननीय केन्द्रीय सूचना आयुक्त द्वारा मेरे द्वारा दिये गए सभी तर्क को सही माना और जब मैने इस भ्रष्टाचार के संबंध में जानकारी दी तो उन्होंने कहॉ ये सभी पाइंट आपको कोर्ट में जीत दिलवायेंगे, भ्रष्टांचार के उपर कार्रवाही करना मेंरी जुडिशरी में नही आता आप ने अब तक पुलिस में इनके खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज क्यो नही करवाई।

महोदय साइबर अटैक के द्वारा मेरे लैपटॉल का डेटा करप्ट करने के बाद हैकर द्वारा मेरे से डेटा को वापस प्राप्त करने के लिए साइज के अनुसार $980 प्रति एमबी/जीबी से मांग की गई और उसने अपना ईमेल एड्रेस datarestore@neomailbox.ch भी दिया तो मैने उनके ईमेल में एक मेल किया dear sir, please one file change to normal I can check and reply as soon as possible. Please see the att file (मेरे द्वारा किये गए मेल की कापी संलग्न है देखे P1) दिनांक 14.07.2020 शाम 5.11 मिनट में उनका मेल आया जिसमें उन्होंने मेरी एक फाईल जो मैने ट्राईल बेसेस में उनको ठीक करने दी थी वह ठीक करके दे दिये और बाकी की फाईल के लिए बिट-क्वासईन में पैसो की मांग किये (हैकर द्वारा प्राप्ते मेल की कापी संलग्न है देखे P2)

महोदय मेरे लैपटॉप में कई पर्सनल जानकारी, फोटो, विडियो आदि थे इसका किसी भी प्रकार का दूरूपयोग हैकर भविष्य में न कर सके इसलिए आपके समक्ष ये आवेदन प्रस्तुत कर रहा हॅू, आशा करता हॅू कि इस पर उचित कानूनी कार्रवाही की जाए ताकि भविष्य में कही और ये हमला न हो।

धन्यवाद

महेश कुमार शर्मा

Next Story