Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरिया क्रास वाेटिंग मामले में बरसे भूपेश और पुनिया, कहा- कड़ी कार्रवाई होगी

सांगठनिक गतिविधियों में भाग लेने पहुंचे पुनिया ने प्रभारी मंत्री और विधायक से की चर्चा। तीन दिवसीय प्रवास पर पहुंचे प्रदेश प्रभारी। ने कहा पार्टी के साथ गलत करने वाले दोषियों के खिलाफ कमेटी की रिपोर्ट के बाद एक सप्ताह के भीतर कार्रवाई की जाएगी। पढ़िए पूरी ख़बर..

कोरिया क्रास वाेटिंग मामले में बरसे भूपेश और पुनिया, कहा- कड़ी कार्रवाई होगी
X

रायपुर: बैकुंठपुर नपा क्रॉस वोटिंग के मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा। कार्यकर्ताओं की मेहनत से पार्टी को जीत मिली है। कुछ लोगों के द्वारा क्रास वोटिंग की गई है। उन पर त्वरित कार्रवाई होनी चाहिए। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया ने भी कहा। ऐसा नहीं होना चाहिए था। जो भी हुआ बहुत गलत हुआ है। मामले की कमेटी बनाकर जांच कराई जा रही है। एयरपोर्ट पर पत्रकारों से चर्चा में मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यकर्ताओं की मेहनत से पार्टी ने वहां पर जीत दर्ज की है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम को इस पर ध्यान देकर त्वरित और कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। प्रदेश प्रभारी भी दौरे पर आ रहे हैं। उनसे भी मामले को लेकर चर्चा होगी। इधर पीएल पुनिया अपने तीन दिवसीय दौरे पर रायपुर पहुंचे। पत्रकारों से बैंकुठपुर नगरपालिका चुनाव को लेकर उन्होंने कहा। जिन्होंने पार्टी के साथ गलत किया उन दोषियों के खिलाफ एक सप्ताह के भीतर कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि कोरिया जिले के बैकुंठपुर नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस के पार्षदों का बहुमत होने के बाद भी उनका अध्यक्ष नहीं बन सका। कांग्रेस पार्षदों पर क्रास वोटिंग का आरोप लगा है।

धर्म संसद विवाद पर हुई कार्रवाई

पीएल पुनिया ने धर्म संसद विवाद पर कहा। उसमे बहुत साधु संत आए थे। किसी ने आपत्तिजनक बात नहीं की जिसने आपत्तिजनक बात कही उसके खिलाफ कार्रवाई हुई है। उत्तर प्रदेश चुनाव पर उन्होंने कहा। हर अत्याचार के विरोध में प्रियंका गांधी ने लड़ाई लड़ी है। उत्तर प्रदेश में बूथ स्तर तक संगठन तैयार है।

कोरिया जिले के पार्षदों की क्राॅस वोटिंग पर चर्चा

कोरिया जिले के बैकुंठपुर और शिवपुर चरचा नगरपालिका चुनाव में कांग्रेस के पार्षदों का बहुमत होने के बाद भी उनका अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पार्षदों की क्राॅस वोटिंग के कारण नहीं बन पाया। इस मामले को लेकर कांग्रेस में राजनीति गरमा गई है। प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने रायपुर पहुंचने के बाद जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. शिव डहरिया और विधायक अंबिका सिंहदेव से चर्चा की।

बैकुंठपुर में अध्यक्ष के चुनाव को लेकर बनाए पर्यवेक्षक वहां गए ही नहीं

चर्चा के दौरान यह बात सामने आई कि बैकुंठपुर में अध्यक्ष के चुनाव को लेकर बनाए गए कांग्रेस के दो पर्यवेक्षक पारसनाथ राजवाड़े और अमरजीत चावला वहां गए नहीं थे। बैकुंठपुर नगरपालिका में चुनाव परिणाम के आधार पर कांग्रेस यह मानकर चल रही थी कि बहुमत के आधार पर यहां उनका अध्यक्ष बनेगा। कांग्रेस ने इसके बाद भी सतर्कता बरतने के निर्देश जिला कांग्रेस अध्यक्ष और अन्य लोगों को दिए थे। यहां पर चुनाव से पूर्व सभी पार्षदों से रायशुमारी कर अध्यक्ष को उम्मीदवार तय करने पर्यवेक्षक के रूप में पारसनाथ राजवाड़े और अमरजीत चावला की नियुक्ति की गई थी। उन्हें वहां पहुंचकर चुनाव प्रक्रिया में पार्षदों के साथ बैठक कर तय करनी थी। चुनाव के दिन और उसके पहले भी दोनों पर्यवेक्षक वहां नहीं पहुंचे। जिला कांग्रेस अध्यक्ष नजीर अहमद ने भी इस दौरान पार्षदों से न तो संपर्क किया और न ही चुनाव के संबंध में जानकारी ली। प्रभारी के सामने इस बात का खुलासा होने के बाद यह कहा जा रहा है कि पर्यवेक्षक और जिला अध्यक्ष पर गाज गिर सकती है।

डहरिया और अंबिका से ली जानकारी

पीएल पुनिया ने बैकुंठपुर और शिवपुर चरचा को लेकर जिले के प्रभारी मंत्री डाॅ. शिव डहरिया और विधायक अंबिका सिंहदेव से चर्चा की। इस दौरान प्रभारी मंत्री ने उन्हें बताया कि परिणाम आने के बाद जिला संगठन और पर्यवेक्षकों को पार्षदों की राय जानने के बाद संगठन को सूचित करना था। वहीं विधायक अंबिका सिंहदेव ने श्री पुनिया को बताया कि संगठन और पार्षदों के बीच सामंजस्य नहीं होने के चलते यह स्थिति आई है। उन्होंने कहा कि पार्षदों में पहले ही इस बात को लेकर विवाद की स्थिति के चलते क्राॅस वोटिंग हुई।

Next Story