Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रीपेड बूथ नाकाम, सिटी बस के पहिए जाम, ऑटो वालों की ऐसी लूट यात्रियों से वसूल रहे दोगुना किराया

राजधानी के रेलवे स्टेशन में आने वाले यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने के लिए आसानी से ऑटो मिल सके इसलिए प्रीपेड ऑटो बूथ बनाया गया था लेकिन अब यह बूथ यात्रियों के किसी काम का नहीं रहा। दूसरी ओर सिटी बसाें का परिचालन भी कोविड-19 संक्रमण के बाद सामान्य नहीं हो सका है। ऐसे में ऑटो वालों को यात्रियों से लूट का भरपूर मौका मिल गया है।

प्रीपेड बूथ नाकाम, सिटी बस के पहिए जाम, ऑटो वालों की ऐसी लूट यात्रियों से वसूल रहे दोगुना किराया
X
ऑटो बूथ (प्रतीकात्मक फोटो)

राजधानी के रेलवे स्टेशन में आने वाले यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने के लिए आसानी से ऑटो मिल सके इसलिए प्रीपेड ऑटो बूथ बनाया गया था लेकिन अब यह बूथ यात्रियों के किसी काम का नहीं रहा। दूसरी ओर सिटी बसाें का परिचालन भी कोविड-19 संक्रमण के बाद सामान्य नहीं हो सका है। ऐसे में ऑटो वालों को यात्रियों से लूट का भरपूर मौका मिल गया है। देर रात अगर कोई ट्रेन से उतर जाए तो ऑटो चालक यात्रियों से भारी भरकम राशि मांगते हैं। आए दिन स्टेशन पर विवाद की स्थिति बनती है। नाइट एक्सट्रा के नाम पर यात्रियों से दोगुना किराया वसूल किया जा रहा है।

कोविड-19 के बाद से लगातार रेल यात्रियों को ट्रेन के महंगे टिकट के साथ-साथ स्टेशन से घर आवागमन करने के लिए भारी भरकम किराया चुकाना पड़ रहा है। इन सब ने रेल यात्रियों की मुसीबत बढ़ा दी है। स्टेशन से शाम 7 बजे के बाद आटो वाले नाइट एक्स्ट्रा चार्ज के नाम पर यात्रियों से दोगुना किराया वसूल रहे हैं। यात्रियों को इन सब परेशानी से राहत दिलाने के लिए ही स्टेशन में प्री-पेड आटो बूथ सेवा की आरटीओ के देखरेख शुरूआत की गई थी। इसके बावजूद रेल यात्रियों काे स्टेशन से उचित दर पर सड़क यातायात के लिए प्री-पेड आटो बूथ सेवा की सुविधा नहीं मिल पा रही है। बुधवार शाम 5.30 बजे हरिभूमि टीम ने स्टेशन पर यात्रियों व आटाे चालकों से आटो किराए संबंध में जानकारी लिया। इस पर यात्रियों ने अपना हाल बयां किया।

किराए के साथ नाइट चार्ज एक्स्ट्रा

स्टेशन के प्री-पेड आटो बूथ से जुड़े आटो चालक ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, स्टेशन के प्री-पेड आटो बूथ से कोई भी यात्री बुकिंग पर्ची नहीं लेता। यात्रियों के पास इतना समय ही नहीं है कि वह प्री-पेड आटो बूथ के पास जाकर आटो बुकिंग का पर्ची कटाए। यात्री स्टेशन के गेट पर ही आटो किराए का तोल मोल कर बुकिंग करता है। अलग-अलग आटो वाले अपने हिसाब से दूरी व समय देखकर किराया वसूलते हैं। आटो का नाइट चार्ज न्यूनतम 20 रुपए से अधिकतम 200 रुपए तक लिया जाता है। काेविड-19 व डीजल-पेट्रोल के बढ़े दाम से आटो किराया भी महंगा हो गया है।

एयरपाेर्ट का किराया 500 रुपए

शाम 5.30 बजे स्टेशन के बाहर एयरपोर्ट जाने के लिए रेल यात्री विनोद जयसवाल ने 300 रुपए किराए पर आटो किया। उन्होेंने बताया, आटो वाले ने पहले 500 रुपए किराया बताया। फिर 300 रुपए में तैयार हुआ। यात्री ने सबसे पहले अन्य यात्रियों से सिटी बस कहां मिलेगी पूछा तो वहां मौजूद लोगों ने बताया कि सिटी बस सेवा नहीं चल रही है। फिलहाल सिर्फ आटो, टैक्सी कार ही स्टेशन से आवागमन के लिए उपलब्ध हैं। ऐसे मजबूरी में एयरपोर्ट के लिए 300 रुपए देना पड़ा। जबकि सिटी बस से किराया बमुश्किल 50 रुपए पड़ता है।

10 प्रतिशत एक्स्ट्रा चार्ज

स्टेशन में प्री-पेड आटो बूथ पर कोविड-19 के बाद से यात्रियों का बुकिंग के लिए आना कम हो गया है। यात्रियों से आटो किराया आरटीओ द्वारा निर्धारित दर पर ही लिया जा रहा है। रात के समय निर्धारित किराए का 10 प्रतिशत नाइट चार्ज एक्स्ट्रा लिया जाता है।


Next Story