Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सहायक शिक्षकों को समर्थन देने धरना स्थल पर बैठे टिकैत, वेतन विसंगति दूर करने सीएम से करेंगे बात

सहायक शिक्षकों द्वारा वेतन विसंगति की मांग को लेकर बूढ़ापारा के धरनास्थल पर प्रदेशव्यापी हड़ताल का समर्थन करने सोमवार को किसान नेता राकेश टिकैत मंच पर पहुंचे। सहायक शिक्षकों की मांग को जायज बताते हुए उन्होंने आंदोलकारियों का हौसला बढ़ाया। टिकैत ने कहा, वेतन विसंगित को लेकर किसी तरह की खामियां हैं तो उसे दूर करने कहा जाएगा। इस संबंध में वे मुख्यमंत्री को सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति की समस्या से अवगत कराएंगे। पढ़िए पूरी ख़बर...

सहायक शिक्षकों को समर्थन देने धरना स्थल पर बैठे टिकैत, वेतन विसंगति दूर करने सीएम से करेंगे बात
X

रायपुर: प्रदेशभर के सहायक शिक्षकों ने एक सूत्रीय मांग को लेकर सोमवार को बूढ़ापारा स्थित धरनास्थल से शांति मार्च निकाला। यह शांति मार्च बूढ़ापारा बिजली आफिस चौक से कालीबाड़ी चौक, पुलिस लाइन होते हुए वापस धरनास्थल पर समाप्त हुआ। शांति मार्च में बड़ी संख्या में महिला व पुरुष सहायक शिक्षकों ने भाग लिया। वेतन विसंगति दूर करने की मांग को लेकर सहायक शिक्षक इन दिनों अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हैं। छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के आव्हान पर 11 दिसंबर से राजधानी में बेमियादी आंदोलन कर रहे सहायक शिक्षकों ने बूढ़ातालाब धरनास्थल से शांति मार्च निकाला। फेडरेशन के प्रदेश महामंत्री छोटेलाल साहू ने सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति के मुद्दे पर कहा, पिछले 3 सालों से इसके लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आश्वासन के आधार पर 90 दिनों की कमेटी बनाई गई, पर शासन द्वारा गठित कमेटी ने अब तक अपनी रिपोर्ट सरकार को नहीं साैंपी है। इसके कारण प्रदेश के 1 लाख 9 हजार सहायक शिक्षकों में नाराजगी है।

किसान नेता राकेश टिकैत ने मंच पर किया समर्थन

सहायक शिक्षकों द्वारा वेतन विसंगति की मांग को लेकर बूढ़ापारा के धरनास्थल पर प्रदेशव्यापी हड़ताल का समर्थन करने सोमवार को किसान नेता राकेश टिकैत मंच पर पहुंचे। सहायक शिक्षकों की मांग को जायज बताते हुए उन्होंने आंदोलकारियों का हौसला बढ़ाया। टिकैत ने कहा, वेतन विसंगित को लेकर किसी तरह की खामियां हैं तो उसे दूर करने कहा जाएगा। इस संबंध में वे मुख्यमंत्री को सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति की समस्या से अवगत कराएंगे।

Next Story