Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एशिया का दूसरा सबसे बड़ा चर्च क्रिसमस पर नहीं खुलेगा श्रद्धालुओं के लिए

वहां सिर्फ पुरोहित ही क्रिसमस की प्रार्थना करेंगे, इस महागिरजाघर में हर साल प्रार्थना के लिए आते थे हजारों श्रद्धालु। पढ़िए पूरी खबर-

एशिया का दूसरा सबसे बड़ा चर्च क्रिसमस पर नहीं खुलेगा श्रद्धालुओं के लिए
X

जशपुर। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए बनी सरकारी गाइडलाइन की वजह से क्रिसमस भी अछुता नहीं रहा। छत्तीसगढ़ के कुनकुरी में स्थित एशिया का दूसरा सबसे बड़ा चर्च इस बार श्रद्धालुओं के लिए पूरी तरह बंद रहेगा। महागिरजाघर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी, वहां सिर्फ पुरोहित ही क्रिसमस की प्रार्थना करेंगे। इस महागिरजाघर में हर साल हजारों श्रद्धालु प्रार्थना के किये आते थे लेकिन इस बार कोरोना के कारण श्रद्धालु प्रार्थना करने महागिरजाघर नहीं पहुंचेंगे।

क्रिसमस के दिन यानी आज 24 दिसम्बर की आधी रात को चर्च में होने वाली विशेष प्रार्थना पर इस बार प्रतिबंध लगा दिया गया है, जशपुर जिले के कुनकुरी स्थित महागिरजाघर में क्रिसमस के दिन मेला की तरह भीड़ होती है, लेकिन इस बार कोरोना के कारण इस भीड़ पर चर्च के फादर ने पाबन्दी लगा दिया है।

आपको बता दें कि 10 हजार से अधिक लोगों की एक साथ बैठक क्षमता वाले इस चर्च में क्रिसमस पर इससे कहीं अधिक लोगों की भीड़ जुटती रही है। इस बार क्रिसमस की विशेष प्रार्थना सभा के लिए चर्च में केवल पुरोहित वर्ग मौजूद रहेगा। चर्च में क्रिसमस के लिए कोई विशेष साज-सज्जा भी नहीं हुई है। हालांकि ईसा मसीह के जन्म की झांकी दिखाने वाली चरनी जरूर बनाई गई है।

महागिरिजाघर के प्रवक्ता प्रफुल्ल बड़ा ने बताया की इस बार क्रिसमस की तैयारियों में कोरेाना से बचने के सारे मापदंडों के हिसाब से तैयारी की गई है। चर्च में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए प्रार्थना की जाएगी। महागिरजाघर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी, वहां सिर्फ पुरोहित ही क्रिसमस की प्रार्थना करेंगे। लोगों के लिए लोयला स्कूल, होलीक्रॉस अस्पताल और संत अन्ना प्रॉविन्सलेट में प्रार्थना सभाओं की व्यवस्था की गई है।

Next Story