Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

उच्च शिक्षा विभाग के आदेश के बाद महाविद्यालयों को रविवि का निर्देश- सभी छात्रों को बुलाएं कॉलेज

अगले माह ऑफलाइन होंगे सेमेस्टर के पर्चे, उच्च शिक्षा विभाग द्वारा बीते सप्ताह आदेश जारी कर 100 फीसदी क्षमता के साथ उच्च शैक्षणिक संस्थान खोलने की अनुमति प्रदान कर दी थी। इसके बाद विवि द्वारा भी ऑफलाइन कक्षाओं को लेकर गंभीर रुख अपनाया जा रहा है। पढ़िए पूरी ख़बर...

उच्च शिक्षा विभाग के आदेश के बाद महाविद्यालयों को रविवि का निर्देश- सभी छात्रों को बुलाएं कॉलेज
X

रायपुर: पं. रविशंकर शुक्ल विवि ने महाविद्यालयों को पत्र लिखकर सभी छात्रों को ऑफलाइन कक्षाओं में बुलाने के निर्देश दिए हैं। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा बीते सप्ताह आदेश जारी कर 100 फीसदी क्षमता के साथ उच्च शैक्षणिक संस्थान खोलने की अनुमति प्रदान कर दी थी। इसके बाद विवि द्वारा भी ऑफलाइन कक्षाओं को लेकर गंभीर रुख अपनाया जा रहा है।

महाविद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों के हॉस्टल पहले ही खोले जा चुके हैं। इसके लिए पृथक आदेश बीते माह ही जारी कर दिया गया था। कॉलेजों में प्रायाेगिक कक्षाएं भी शुरू कर दी गई हैं। इन कक्षाओं में भी 50 प्रतिशत छात्रों को ही बुलाया जा रहा है। अनुमति मिलने के बाद प्रायोगिक कक्षाएं पूरी क्षमता के साथ प्रारंभ की जा रही हैं। कई महाविद्यालयों द्वारा छात्रों को इस संदर्भ में सूचना भी भेज दी गई है। सोमवार से कई महाविद्यालयों ने शिफ्ट में कक्षाएं लगानी शुरू कर दीं तो कई कॉलेजों में अभी भी छात्रों की पूर्ण उपस्थिति नहीं है।

प्रायोगिक को लेकर असमंजस

रविवि अगले महीने ऑफलाइन मोड में सेमेस्टर परीक्षाएं लेने की तैयारी में है। इसकी समय-सारिणी इस महीने के अंत तक जारी की जा सकती है। हालांकि प्रायोगिक परीक्षाओं को लेकर अब भी असमंजस बना हुआ है। लिखित परीक्षा के पहले इसका आयोजन किया जाएगा अथवा बाद में, यह अब तक तय नहीं किया जा सका है। सामान्यत: लिखित परीक्षाओं के पूर्व ही प्रायोगिक परीक्षाएं ली जाती रही हैं। बीते सत्र में कोरोना संक्रमण के कारण पहले लिखित परीक्षा तथा उसके बाद प्रायोगिक परीक्षा ली गई थी।

वार्षिक के आवेदन इस माह से

जनवरी में सेमस्टर परीक्षाएं लेने के बाद मार्च-अप्रैल से वार्षिक परीक्षाएं लिए जाने की तैयारी है। रविवि ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि यदि कोरोना संक्रमण की दर वर्तमान अनुसार ही रही तो परीक्षाएं ऑफलाइन ही होंगी। पिछली बैठक में प्राचार्यों को इस आधार पर ही अध्यापन कार्य कराने के निर्देश रविवि द्वारा दिए गए थे। सूत्रों के अनुसार इस महीने से नियमित तथा स्वाध्यायी छात्रों के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू की जा सकती है।

Next Story