Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

करुणा के निधन के बाद समाज कल्याण के लिए पैनल भेजा, केंद्र ने बोर्ड ही बंद किया

छत्तीसगढ़ सरकार का नियुक्ति के लिए भेजा पैनल रद्दी में

करुणा के निधन के बाद समाज कल्याण के लिए पैनल भेजा, केंद्र ने बोर्ड ही बंद किया
X

सुरेंद्र शुक्ला. रायपुर. पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी बाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला को कांग्रेस सरकार बनने के बाद राज्य समाज कल्याण बोर्ड का चेयरमैन नियुक्त किया गया था, केंद्र से अनुमति नहीं मिलने के कारण वे इस बोर्ड में नहीं बैठ पाईं। अब केंद्र सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग ने केंद्रीय समाज कल्याण बोर्ड को ही बंद कर दिया। राज्य सरकार ने फिर से इसमें नियुक्ति के लिए नामों को पैनल भेजा था।

16 जुलाई 2020 को राज्य सरकार ने राज्य समाज कल्याण बोर्ड के चेयरमैन के रूप में करुणा शुक्ला के नाम की घोषणा की थी। उनके नाम की घोषणा के बाद वे चेयरमैन के पद पर केंद्र सरकार से अनुमति नहीं मिलने के कारण वे नहीं बैठ पाईं। कोरोना संक्रमण के कारण अप्रैल माह में उनका निधन हो गया। उनके निधन के बाद राज्य सरकार ने इस पद पर नियुक्ति के लिए नामों का पैनल केंद्र को भेजा। पैनल को अनुमति मिलने के बजाय केंद्र ने राज्य सरकार को सूचित किया कि केंद्रीय समाज कल्याण बोर्ड को बंद कर दिया गया है। राज्य के समाज कल्याण बोर्ड को केंद्रीय बोर्ड के द्वारा वित्तीय, प्रशासनिक और सेवा संबंधी सहायता मिलती थी।

बोर्ड के संचालक मंडल का निर्णय

केंद्र के महिला एवं बाल विकास विभाग ने शुक्रवार को राज्य के मुख्य सचिव को पत्र जारी कर इसकी सूचना दी। पत्र में कहा गया है कि केंद्रीय समाज कल्याण बोर्ड के कार्यकारी समिति के सदस्य, संचालक मंडल, जनरल बाॅडी की बैठक में बोर्ड को बंद करने संबंध में पिछले साल 30 सितंबर विचार किया गया। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री ने 24 नवंबर 2020 को इसे बंद करने संबंध में अपनी सहमति दी। यह एक नाॅन प्राॅफिट संस्था थी। शासन की गाइडलाइन के तहत बंद किया गया है।

राज्यों को सुझाव

पत्र में राज्य सरकार को लिखा गया है कि केंद्रीय समाज कल्याण बोर्ड के निर्णय के बाद राज्य समाज कल्याण बोर्ड राज्य सरकार चाहे तो इसे जारी रख सकती है, पर यह राज्य का खुद का निर्णय होगा और योजनाओं के संचालन का दायित्व उन्हीं का होगा। केंद्रीय समाज कल्याण बोर्ड इसके वित्तीय, प्रशासनिक, सेवा और अन्य दायित्वों के लिए जिम्मेदार नहीं होगा।

Next Story