Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

माता बनी कुमाता: डिलीवरी के बाद बच्ची को खुले आसमान तले खेत में निर्वस्त्र छोड़ भागी

सोमवार की सुबह ग्राम पंचायत भुईगांव में एक किसान खेत में काम करने के लिए गया तो उसे बच्ची के रोने की आवाज सुनाई दी। वह मौके पर पहुंचा तो एक नवजात पड़ी हुई थी।पढ़िये पूरी खबर-

माता बनी कुमाता: डिलीवरी के बाद बच्ची को खुले आसमान तले खेत में निर्वस्त्र छोड़ भागी
X

जांजगीर। कहते हैं कि पूत कपूत हो सकता है, लेकिन माता कुमाता नहीं होती। लेकिन यहां हम आपको जिस वाकए के बारे में बताने जा रहे हैं, उसे जानकर आप इस उक्ति को स्वयं ही झूठा मान लेंगे। एक मां ने बच्ची को जन्म देकर बिना उसकी नाल काटे ही कड़कड़ाती ठंड में खुले आसमान तले खुले बदन छोड़ दिया।

ये दिल दहला देने वाला वाकया छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले का है। हुआ कुछ यूं कि सोमवार की सुबह ग्राम पंचायत भुईगांव में एक किसान खेत में काम करने के लिए गया तो उसे बच्ची के रोने की आवाज सुनाई दी। वह मौके पर पहुंचा तो एक नवजात पड़ी हुई थी। बच्ची की नाल तक नहीं काटी गई थी। इस पर किसान ने अन्य ग्रामीणों और सरपंच को इसकी जानकारी दी। वह पहुंचे और मितानिन के साथ बच्ची को घर ले गए। इसके साथ ही डायल-112 पर पुलिस को सूचना दी।

डाक्टरों की देखरेख में स्वस्थ है बच्ची

नवजात को पामगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों ने परीक्षण के बाद बच्ची को स्वस्थ बताया है। मितानिनों और सरपंच ने बताया कि खेत में जिस जगह बच्ची मिली है, वहां आस-पास बड़ी मात्रा में खून फैला हुआ था। ऐसे में आशंका है कि खेत में ही महिला का प्रसव कराया गया। इसके बाद बच्ची को छोड़कर मां भाग निकली। मितानिनों की टीम को अलर्ट किया जा रहा है कि आसपास के क्षेत्र में गर्भवती महिला का पता लगाएं।

Next Story