Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंग्लिश माध्यम स्कूलों के लिए अर्जी 15 मई के बाद, शिक्षकों काे भी भर्ती का इंतजार

इस सत्र में पांच अन्य इंग्लिश माध्यम स्कूल प्रारंभ किए गए हैं। इस तरह से नए सत्र में कुल 8 स्कूलों के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। नए स्कूलों में भाठागांव व माना कैंप के शासकीय स्कूल शामिल हैं, जबकि तीन अन्य स्कूल तिल्दा, आरंग व अभनपुर में हैं।

इंग्लिश माध्यम स्कूलों के लिए अर्जी 15 मई के बाद, शिक्षकों काे भी भर्ती का इंतजार
X

रायपुर. जिले के शासकीय इंग्लिश माध्यम स्कूलों में शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए आवेदन प्रक्रिया 15 मई के बाद प्रारंभ की जाएगी। आवेदन प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन होगी। जून अंत तक इन स्कूलों के लिए आवेदन मंगाए जाएंगे। बीते वर्ष जिले में तीन शासकीय इंग्लिश माध्यम स्कूलों के साथ इस योजना की शुरुआत की गई थी। इस सत्र में पांच अन्य इंग्लिश माध्यम स्कूल प्रारंभ किए गए हैं। इस तरह से नए सत्र में कुल 8 स्कूलों के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। नए स्कूलों में भाठागांव व माना कैंप के शासकीय स्कूल शामिल हैं, जबकि तीन अन्य स्कूल तिल्दा, आरंग व अभनपुर में हैं।

सूत्रों के अनुसार शिक्षा विभाग द्वारा इसे लेकर सभी तैयारियां पूर्ण की जा चुकी हैं। मई के पहले पखवाड़े से ही इसके लिए आवेदन मंगाए जाने की तैयारी थी, लेकिन कोरोना संक्रमण और प्रदेश में लगे लॉकडाउन के कारण इसकी शुरुआत 15 मई के बाद की जाएगी। पिछले वर्ष कोरोना के कारण प्रवेश प्रक्रिया 15 जून से प्रारंभ हुई थी। प्रवेश प्रक्रिया में विलंब के कारण कक्षाएं भी कुछ माह की देर से शुरू हो सकी थीं।

भर्ती सेटअप के बाद ही

सरकारी इंग्लिश माध्यम स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया भी कोरोना के कारण अटकी हुई है। नए खोले गए स्कूलों में शिक्षकों, अधिकारियाें व कर्मचारियों का सेटअप ही तैयार नहीं हो सका है। सेटअप तैयार होते ही यहां प्राचार्य, शिक्षक व अन्य पदों पर भर्ती प्रारंभ कर दी जाएगी। बीते सत्र की ही तरह यहां पहले सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके बाद ही निजी स्कूलों के शिक्षकों से आवेदन स्वीकार किए जाएंगे।

150 सीटों के लिए आए थे 5 हजार आवेदन

बीते वर्ष शासकीय इंग्लिश माध्यम स्कूलों में प्रवेश के लिए मारामारी की स्थिति निर्मित हो गई थी। रायपुर में बीपी पुजारी स्कूल, आरडी तिवारी और शहीद स्मारक स्कूल को इंग्लिश मीडियम में तब्दील किया गया था। कई कक्षाओं में 150 सीटों के लिए 5 हजार से भी अधिक आवेदन मिले थे। लॉटरी के जरिए छात्रों का चयन करना पड़ा था। हालांकि शैक्षणिक सत्र 2021-22 में छात्राओं के लिए 50 फीसदी सीटें आरक्षित कर दी गई हैं। इसके साथ ही प्रवेश के लिए कुछ अन्य नियम भी बनाए गए हैं। लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा इस संदर्भ में पहले ही नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है।

Next Story