Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तेलीबांधा तालाब किनारे 11 साल बाद मौली माता मंदिर का होगा पुनर्निर्माण

महापौर एजाज ढेबर ने स्थल निरीक्षण कर मंदिर पुनर्निमाण का लिया संकल्प। तत्कालीन निगम कमिनश्नर ओपी चौधरी ने हटवाया था तेलीबांधा तालाब के साथ लगा प्राचीन मौली माता मंदिर। तेलीबांधा तालाब की चौपाटी के समीप देवभोग मिल्क पार्लर के पास खाली जगह पर मंदिर निर्माण को लेकर सहमति बनी। पढ़िए पूरी ख़बर..

तेलीबांधा तालाब किनारे 11 साल बाद मौली माता मंदिर का होगा पुनर्निर्माण
X

रायपुर: राजधानी के तेलीबांधा तालाब किनारे 11 साल पहले हटाए गए मौली माता के प्राचीन मंदिर का ससम्मान पुनर्निर्माण दानदाताओं के सहयोग से किया जाएगा। महापौर एजाज ढेबर ने एमआईसी सदस्य व वार्ड पार्षद अजीत कुकरेजा के साथ मिलकर मंगलवार को तेलीबांधा तालाब किनारे के 2 अलग-अलग स्थानों का निरीक्षण किया और तेलीबांधा तालाब की चौपाटी के समीप देवभोग मिल्क पार्लर के पास खाली जगह पर मंदिर निर्माण को लेकर सहमति बनी।

महापौर ढेबर ने कहा है, जन आस्था का केंद्र रहे ऐतिहासिक मौली माता मंदिर का पुनर्निर्माण कार्य सभी भक्तजनों, दानदाताओं एवं आम जनता के सहयोग लेकर तेलीबांधा तालाब किनारे कराया जाएगा। ढेबर ने मंदिर निर्माण का इस दौरान संकल्प लिया। तेलीबांधा का प्राचीन मौली माता मंदिर को 11 साल पहले वर्तमान भाजपा नेता एवं तत्कालीन नगर निगम आयुक्त ओपी चौधरी ने हटवाने की कार्रवाई की थी, जिसे लेकर कई साल से तेलीबांधा एवं उसके आसपास रह रहे लोगों की भावनाओं को चोट पहुंची थी। मंदिर के पुनर्निर्माण को लेकर तेलीबांधा मौली माता मंदिर पुननिर्माण संघर्ष समिति ने समय-समय पर जनहित में आवाज बुलंद की। वरिष्ठ फोटो जर्नलिस्ट संतोष साहू और उनकी टीम ने इसके लिए काफी जद्दोजहद की।

स्थल निरीक्षण के दौरान ये रहे मौजूद

एमआईसी सदस्य अजीत कुकरेजा, पार्षद सीमा संताेष साहू , प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष अनिल पुसदकर, रायपुर प्रेस क्लब अध्यक्ष दामू आंबेडारे, कोषाध्यक्ष शगुप्ता शिरीन, प्रकाश शर्मा, वरिष्ठ छायाकार गोकुल सोनी, राजेश मिश्रा, दीपक पांडेय, महादेव तिवारी, मोहन तिवारी, विनय घाटगे, दीपक सोनी, सामाजिक कार्यकर्ता सुरेश मिश्रा, संदीप राज, शिव दत्ता आदि मौजूद रहे।

Next Story