Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भाजपा-कांग्रेस में वादे याद दिलाने का खेल, साय बोले- युवाओं को ३ साल का भत्ता दें, मरकाम ने कहा- पीएम से मांगें दो करोड़ रोजगार

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने सीएम बघेल को पत्र लिख बजट में बेरोजगार युवाओं को मासिक भत्ता देने का का आग्रह किया। साय ने लिखा कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में 10 लाख युवाओं को 2,500 रु प्रति माह मासिक भत्ता देने की बात कही थी। पीसीसी चीफ मोहन मरकाम ने भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय के पत्र पर कहा कि साय सीएम भूपेश को पत्र लिखने की बजाय पीएम मोदी को पत्र लिखें और उनसे दो करोड़ रोजगार तथा 15-15 लाख रुपए की मांग करें। पढ़िए पूरी ख़बर...

भाजपा-कांग्रेस में वादे याद दिलाने का खेल, साय बोले- युवाओं को ३ साल का भत्ता दें, मरकाम ने कहा- पीएम से मांगें दो करोड़ रोजगार
X

बेरोजगारी के मुद्दे पर छत्तीसगढ़ में जुबानी, पत्र, डिजिटल, हर प्रकार के मोर्चे पर भाजपा-कांग्रेस में जंग जारी है

रायपुर: छत्तीसगढ़ में भाजपा-कांग्रेस के दिग्गजों के बीच बेरोजगारी को लेकर जबरदस्त घमासान जारी है। भाजपा जहां सीएम बघेल से बेरोजगारी भत्ता मांग रही। वहीं कांग्रेस मोदी के हर साल 2 करोड़ रोजगार देने के वादे को निभाने की मांग करने को कह रही। पढ़िए किसने किससे क्या-क्या कहा।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने सीएम भूपेश बघेल को पत्र लिखकर आगामी बजट में प्रदेश के बेरोजगार युवाओं को मासिक भत्ता देने का प्रावधान करने का आग्रह किया है। भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने सीएम भूपेश को पत्र लिखकर बजट में तीन साल के हिसाब से नौ हजार करोड़ रखने का आग्रह किया है। साय ने अपने पत्र में लिखा है कि चुनाव के दौरान कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में 10 लाख युवाओं को 2,500 रु प्रति माह मासिक भत्ता देने की बात कही थी। साय ने लिखा है कि सरकार को अपने वादे के अनुरूप अब तीन साल मासिक भत्ता प्रति युवा को 90 हज़ार रुपए का भुगतान करना है। कुछ समय पहले जानकारी मिली थी कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा युवाओं से फार्म भरवाना शुरू किया गया था लेकिन अभ तक किसी काे भी भुगतान नहीं किया गया है। इस बात को लेकर प्रदेश में निराशा का माहौल है।10 लाख युवाओं को प्रतिमाह ढाई हजार के हिसाब से 3 हज़ार करोड़ सालाना होती है। इस लिहाज से तीन साल में कुल लंबित राशि नौ हजार करोड़ रुपए है। सरकार के तीन साल पूरे हो चुके हैं लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि तीन साल के बजट में किसी भी साल बेरोजगारी भत्ता देने के लिए कोई प्रावधान नहीं किया गया है।

पीसीसी चीफ मोहन मरकाम

वहीं पीसीसी चीफ मरकाम ने साय पर हमला बोलते हुए कहा कि वे सीएम भूपेश की बजाय पीएम मोदी को पत्र लिखें। मरकाम ने कहा कि बीते 7 साल में 14 करोड़ युवाओं को नौकरी मिलना था जो नहीं मिला है। इसके साथ ही मोदी तत्काल 140 करोड़ जनता के खाते में 15-15 लाख रुपए जमा कराएं। मरकाम ने भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय के पत्र पर कहा कि साय सीएम भूपेश को पत्र लिखने की बजाय पीएम मोदी को पत्र लिखें और उनसे दो करोड़ रोजगार तथा 15-15 लाख रुपए की मांग करें। भाजपा का चरित्र ही है फर्जी जाली दस्तावेज बनाकर आम जनता को भ्रमित करना। इसके पहले भी डॉ रमन ने कांग्रेस की छवि धूमिल करने की कोशिश की थी। अब कांग्रेस का फर्जी घोषणा पत्र बनाकर भाजपा नेता बेरोज़गारी भत्ता देने का भ्रम जाल में फैलाना चाहते हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी ने देश की जनता को अच्छे दिन, युवाओं को प्रतिवर्ष दो करोड़ रोजगार, किसानों को स्वामीनाथन कमेटी के अनुसार लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने, 2022 में किसानों की आय दुगनी करने, 100 दिनों के भीतर महंगाई खत्म करने, कालाधन वापस लाने जैसे कई वादे किए थे। लेकिन सरकार बने सात साल हो गए हैं जनता भाजपा के वादों के पूरा होने का इंतजार कर रही है।

Next Story