Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मंत्रियों के ओएसडी के 12 पद स्वीकृत, अब सामान्य प्रशासन के अधीन होंगे

फिर भी मंत्रियों की पसंद का रखा जाएगा ख्याल

मंत्रियों के ओएसडी के 12 पद स्वीकृत, अब सामान्य प्रशासन के अधीन होंगे
X

रायपुर. राज्य सरकार के मंत्रियों के अधीन काम करने वाले ओएसडी अब सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग के अधीन काम करेंगे। ओएसडी की नियुक्ति अब भी मंत्रियों की पसंद से होगी, लेकिन जिस कर्मी को ओएसडी बनाया जाएगा, वे कम से कम द्वितीय श्रेणी के अधिकारी होंगे। राज्य सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने ओएसडी के 12 पदों की स्वीकृति प्रदान की है। राज्य में ओएसडी के मामले में पहली बार ये प्रक्रिया अपनाई जा रही है।

ये वजह है बदलाव की

प्रदेश में राज्य गठन के बाद से यह प्रक्रिया चल रही है कि सरकार बनने के बाद मंत्रियों के कामकाज का संंचालन करने के लिए ओएसडी की नियुक्ति की जाती है। यह नियुक्ति मंत्री की पसंद के आधार पर होती है। मंत्री अपनी पसंद से किसी भी विभाग में कार्यरत तृतीय श्रेणी या अन्य श्रेणी के कर्मी को अपना ओएसडी बनवा लेते हैं। ये ओएसडी नियुक्ति के बाद अपने मूल विभाग से अलग होकर मंत्री की सेवा में काम करते हैं, लेकिन उनका वेतन मूल विभाग से जारी होता है। इस तरह अलग-अलग विभागों के लोग मंत्रियों के ओएसडी के रूप में काम करते रहते हैं। मंत्री की सेवा में होने के कारण मूल विभाग संबंधित कर्मी के कार्यों का मूल्यांकन भी नहीं कर पाता, क्योंकि अभी तक ओएसडी केवल अटैच कर्मी के रूप में काम करते हैं।

अर्हता तय की गई

राज्य सरकार ने सामान्य प्रशासन विभाग के अधीन ओएसडी के 12 नियमित पद स्वीकृत किए हैं। ये ओएसडी मंत्रियों की सेवा में काम करेंगे। अब तक अलग-अलग विभागों के मंत्री अटैच कर्मी के रूप में सेवाएं देते थे। ओएसडी पद के लिए अर्हता भी तय की गई है।

- डीडी सिंह, सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग

Next Story