Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

SP दीपक वर्णवाल पर गंभीर आरोप लगाकर महिला अफसर ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का लिया निर्णय, विभाग में मचा हड़कंप

बिहार में दो दिनों के अंदर से दूसरा केस सामने आया है। जब बिहार पुलिस के दारोगा रैंक के दो अफसरों द्वारा किसी आईपीएस के खिलाफ संगीन आरोप जड़े गए हैं। अब स्पेशल ब्रांच के एसपी दीपक वर्णवाल के खिलाफ प्रताड़ित करने का आरोप लगाकर महिला पुलिसकर्मी ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का निर्णय लिया है।

SP दीपक वर्णवाल पर गंभीर आरोप लगाकर महिला अफसर ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का लिया निर्णय, विभाग में मचा हड़कंप
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) में आईपीएस (IPS) अधिकारी एवं स्पेशल ब्रांच के एसपी दीपक वर्णवाल (SP Deepak Varnwal of Special Branch) के खिलाफ जूनियर अधिकारियों में व्याप्त गुस्सा एक-एक कर उगागर होता जा रहा है। इससे पहले शनिवार को दारोगा अजय सिंह ने एसपी दीपक वर्णवाल पर अमर्यादित व्यवहार और गाली-गलौज करने के आरोप लगाया था। वहीं अभी ये केस मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि रविवार को एक और ऐसा मामला सामने आ गया।

रविवार को सामने आया है कि एक महिला पुलिस दारोगा (lady police officer) ने एसपी दीपक वर्णवाल पर गंभीर आरोप जड़ते हुए अपने रिटायरमेंट के नौ वर्ष पहले ही स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन दिया है। जिसका खुलासा हो गया है। जिसमें महिला इंस्पेक्टर ने आरोप लगाया है कि एसपी दीपक वर्णवाल द्वारा उन्हें लगातार अपमानित किया गया है। वही इस अपमान व जलालत को सहते हुए अब उन्हें नौकरी कर पाना असंभव लग रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अंशु कुमारी व अजय सिंह दोनों 1994 बैच के पुलिस अफसर हैं। अंशु कुमारी की ओर से वीआरएस के वजह में कहा गया है कि वो अपने सम्मान से समझौता नहीं कर सकतीं। इस वजह से पुलिस (Police) की नौकरी छोड़ना सही है। उनका कहना है कि उनके साथ जो हुआ है, उससे उनका पूरा परिवार खुश नहीं है। मानसिक रूप से भी ये सभी दुखी हैं।

स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए अंशु कुमारी की ओर से बीते 26 जुलाई 2021 को बेगूसराय एसपी को एक लेटर भेजा गया था। इस पत्र की कॉपी साथ ही डीजीपी, आईजी हेड क्वार्टर व बेगूसराय डीआईजी को भी भेजी गई थीं। अंशु कुमार का कहना है कि दीपक वर्णवाल आईपीएस रैंक के अफसर हैं, इसलिए वह उनसे मुकाबला करने में सक्षम नहीं हैं। इस कारण आराम से नौकरी छोड़ना सही मानती हैं। इनसे पूर्व जब शनिवार को इंस्पेक्टर अजय सिंह का केस सामने आया तो इससे अंशु कुमारी को भी हौसला मिली व अब इसपर अंशु कुमारी भी मैदान में उतार आई हैं।

वहीं बिहार पुलिस एसोसिएशन की ओर से मामले को गंभीर करार दिया गया है। कहना है कि अंशु कुमारी व अजय सिंह के केस से संबंधित तमाम बातें सरकार तक भेजी जाएंगी। इसपर एसोसिएशन का एक शिष्टमंडल पुलिस मुख्यालय के वरिष्ठ अफसरों के साथ-साथ सरकार से भी मिलेगा। जहां एसपी पर शिकायत दर्ज कराते हुए पूरे केस की गहनता से तफ्तीश कराने के लिए मांग उठाई जाएगी।

Next Story