Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Watch Video : शख्स ने खुद सिर फोड़कर पड़ोसी पर दर्ज कराया केस, पत्नी से छेड़खानी का भी लगाया आरोप

बिहार के अररिया जिले में एक वायरल वीडियो को देखकर हर कोई हैरान हो जाएगा। एक शख्स ने स्वयं अपना सिर फोड़ लिया और एससी/एसटी एक्ट के तहत दूसरों के खिलाफ केस दर्ज कर करवा दिया। उसने पत्नी के साथ भी गलत हरकतें करने का आरोप लगाया था।

Video viral man himself beheaded and Case filed under SC ST Act in Araria Bihar Crime news
X

अररिया वायरल तस्वीर

बिहार (Bihar) के अररिया (Araria) जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। इस मामले की एक वीडियो वायरल (Video Viral) हो रही जिसको देखकर हर कोई हैरान है। वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि दलितों के खिलाफ अत्याचार को रोकने के लिए बने एससी/एसटी एक्ट (SC / ST Act) का किस तरह गलत इस्तेमाल हो रहा है। मामला ये है कि विनोद रजक (Vinod Rajak) नाम के एक युवक ने विवाद के दौरान पहले तो खुद ईंट मारकर अपना सिर फोड़ लिया और उसके बाद वो सीधा पुलिस के पास पहुंचा। जहां उसने आरोपियों के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट तहत केस दर्ज करवा दिया। फिर मामले की जांच पुलिस (Police) ने की तो सारी सच्चाई सामने आ गई।

एसडीपीओ खुद इस मामले की स्पॉट वेरिफिकेशन करने के लिए पहुंचे थे। विवाद के दौरान एक पड़ोसी ने इस पूरे मामले का वीडियो बना लिया था। उक्त वीडियो को एसडीपीओ ने भी देखा। जिसके बाद इस वीडियो से पीड़ित विनोद रजक द्वारा लगाए गए आरोपों की पोल खुल गई।

जानकारी के अनुसार अररिया रानीगंज के प्रेमनगर साधु आश्रम वार्ड संख्या-8 में निवासी विनोद रजक ने एससी-एसटी एक्ट की धाराओं में 27 फरवरी को पुलिस थाने में एक केस दर्ज कराया था। शिकायत में विनोद रजक ने चार लोगों पर जान से मारने की नीयत से लूटपाट, मारपीट और सिर फोड़ देने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करवाया।

एसडीपीओ ने खुद की मामले की जांच

केस दर्ज के बाद खुद एसडीपीओ स्पॉट वेरिफिकेशन एवं मामले की जांच पड़ताल के लिए घटनास्थल पर पहुंचे। जहां उन्हें एक पड़ोसी ने इस पूरी घटना का एक वीडियो दिखाया गया। जिसमें साफ दिखाई दे रहा है कि विनोद रजक खुद ईंट मारकर अपना सिर फोड़ रहा है। साथ ही विनोद के ही परिजन आरोपियों के साथ मारपीट की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। इस वीडियो ने पीड़ित रजक के तमाम आरोपों की पोल खोल कर रख दी।

रजक ने शिकायत में लगाए आरोप

शिकायत में विनोद ने आरोप लगाया था कि 27 फरवरी की सुबह को वो अपने घर के गेट पर बैठे था। इस दौरान दिलवर तिवारी, उषा देवी समेत चार लोग लाठी-डंडों से लैस होकर वहां पहुंचे और उसके साथ गाली-गलौच करने लगे। उसने विरोध जताया तो दिलवर तिवारी ने उनके सिर पर जानलेवा हमला कर दिया। रजक ने अपनी पत्नी के साथ मारपीट व गलत नीयत से कपड़ा फाड़ने के भी आरोप लगाए। आरोपियों पर दो हजार रुपये छीनने और गहने छीनने का भी आरोप लगाया। घर में आग लगाकर पूरे परिवार को जिंदा जला देने की धमकी देने का आरोप लगाया गया।

Next Story