Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डायरिया से दो नाबालिग लड़कियों की मौत, आधा दर्जन बच्चों के बीमार होने से स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

बिहार के मुंगेर जिले से डायरिया ने कहर बरपाया है। यहां डायरिया ग्रस्त दो नाबालिग लड़कियों की मौत हो गई है। सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है।

Two minor girls die of diarrhea in Munger of Bihar health News
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरोना के बाद अब बिहार (Bihar) में डायरिया ने भी कहर (diarrhea havoc) बरपाना शुरू कर दिया है। जानकारी के अनुसार मुंगेर (Munger) जिले के टेटियाबंबर प्रखंड स्थित बड़ी छाता गांव में बीते दिन डायरिया ग्रस्त दो नाबालिग लड़कियों ने दम तोड़ दिया। वहीं डायरिया से करीब आधा दर्जन बच्चे पीड़ित बताए गए हैं। बीमार बच्चों का उपचार (treatment of sick children) प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है। डायरिया पीड़ित ममता कुमारी 15 साल पिता ब्रह्मदेव मांझी और फूलझड़ी कुमारी 12 साल पिता हीरालाल मांझी की मौत (death from diarrhea) हुई है।

स्थानीय लोगों के अनुसार शनिवार को दिन का भोजन करने के बाद कई बच्चों में पेट दर्द के साथ उल्टी और दस्त की शिकायत मिलनी शुरू हो गई। इस बीच शनिवार की देर शाम में दो लड़कियों का स्वास्थ इतना बिगड़ गया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर जाने से पहले ही दोनों बच्चियों ने घर में ही दम तोड़ दिया। वहीं गांव के करीब आधा दर्जन डायरिया से ग्रस्त बच्चों को इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर जाया गया है। जहां उनका उपचार जारी है।

वहीं दो नाबालिग लड़कियों की मौत और आधा दर्जन बच्चों के बीमार होने की सूचना मिलने से ही स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया। वहीं सिविल सर्जन के निर्देश पर प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अपूर्वा डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के साथ गांव तुरंत आए और साथ ही इन स्वास्थ्य कर्मियों ने गांव में ब्लीचिंग का छिड़काव किया गया।

ग्रामीण बासी मछली और अन्य दूषित भोजन करने की वजह से डायरिया होने का शक जाहिर कर रहे हैं। वहीं सिविल सर्जन डॉ. हरेंद्र कुमार ने कहा कि दो लड़कियों की मौत की सूचना मिली है। फूड प्वॉइजन का केस महसूस हो रहा है। साथ ही उन्होंने बताया कि प्रभावित गांव में ब्लीचिंग का छिड़काव किया गया है व अन्य जरूरी कदम भी उठाए जा रहे हैं।

Next Story