Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सावन की पहली सोमवारी पर गंगा में डूबने से 3 लोगों की मौत, मौके पर मदद का इंतजार कर रहे पीड़ित

भागलपुर जिले में गंगा नदी पर दर्दनाक दुर्घटना हो गई है। यहां सावन की पहली सोमवारी पर गंगा में डूबने से तीन लोगों की मौत हो गई है। ये लोग गंगा नदी में स्नान के लिए पहुंचे थे।

Three people drowned in Ganges river on first Monday of Sawan in Bhagalpur bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के भागलपुर (Bhagalpur) जिले में सावन के पहले ही सोमवार के दिन (First Monday of Sawan) गंगा (Ganga) नदी पर बड़ा हादसा (Accident) हो गया है। पहले सोमवार को गंगा में स्नान के दौरान तीन लोगों की डूबकर मौत (death by drowning) हो गई। इसकी वजह प्रशासन की ओर से गंगा नदी पर सुरक्षा को लेकर किसी तरह के इंतजाम नहीं किया जाना भी है।

दरअसल, गंगा नदी में तीनों लड़कों के डूब जाने का हादसा सुल्तानगंज थाना इलाके में घटा है। जानकारी के मुताबिक, सावन के पहले सोमवारी पर भागलपुर जिले में जहाज घाट पर गंगा नदी में स्नान करने कई स्थानों से शिव भक्त पहुंचे। इनमें से ही में तीन शिव भक्तों की गंगा स्नान के दौरान डूब जाने की वजह से मौत हो गई।

नाथनगर के साहिबगंज के रहने वाले विजय मंडल ने बताया कि उनका बेटा सौरभ कुमार 18 साल गंगा नदी में स्नान करने के लिए आया था। इस दौरान गंगा नदी में डूबने की वजह से मौत हो गई। यहीं की रहने वाली गायत्री देवी ने बताया कि उनका छोटा बेटा मुकेश कुमार 15 साल गंगा में स्नान करने के लिए आया था। नदी में स्नान करते वक्त उसकी मौत हो गई हैं। वहीं नाथनगर पासीटोला की रहने वाली ज्योति देवी ने बताया कि उनका 16 वर्षीय बेटा राहुल कुमार भी यहीं पर गंगा स्नान के लिए अया था। जिसकी आज सुबह गंगा स्नान करने के दौरान डूबने से मौत हो गई है। नदी में से एक लाश निकाल ली गई है। शव को नाथनगर के साहेबगंज निवासी सौरभ कुमार के रूप में पहचाना गया है। इसके शव को नगर परिषद के नाव द्वारा खोजबीन कर नदी से निकाला गया है।

कई घंटे के बाद भी नहीं पहुंची मदद

इस हादसे को कई घंटे बीत गए हैं। इसके बाद भी प्रशासन या एनडीआरएफ की टीम घटनास्थल पर नहीं पहुंची हैं। घटना की जानकारी मिलने पर भाजपा नगर अध्यक्ष नवीन कुमार बन्नी पहुंचे। यहां पर भाजपा नेता ने परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी। साथ ही उन्होंने भरोसा दिया कि अफसरों से फोन पर बातचीत कर मौके पर एनडीआरएफ की टीम भेजने की मांग की गई है।

Next Story