Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जिन्हें चुनाव आयोग तक पर भरोसा नहीं, वे कोरोना जांच रिपोर्ट को भी कर सकते हैं खारिज: सुशील मोदी

बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर सवाल उठाने वालों को उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने आड़े हाथ लिया। कहा, जिन्हें अदालत व चुनाव आयोग तक पर भरोसा नहीं, वे किसी की कोरोना जांच रिपोर्ट को भी खारिज कर सकते हैं। मादी ने राजद के युवा नेतृत्व पर भी लालू के नक्शे कदम पर चलने का आरोप लगाया है।

those who do not trust even the election commission they can also dismiss the corona investigation report sushil modi
X
भाजपा नेता सुशील मोदी

बीते दिन राजद नेता तेजस्वी यादव ने बिहार की नीतीश सरकार को सूबे की लचर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर निशाना साधा था। वहीं उन्होंने आरोप लगाया था कि जिन लोगों ने जांच ही नहीं करवाई है, उन्हें भी पॉजिटिव बताया जा रहा है। उन्होंने ये भी आरोप लगाया था कि जो लोग जांच करवा चुके हैं। उनकी जांच रिपोर्ट कई दिनों तक नहीं मिल पा रही है। साथ ही उन्होंने सूबे में कोरोना महामारी की जांच रिपोर्ट पर भी अविश्वास जाहिर किया था।

उप मुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा कि लालू प्रसाद यादव ने पार्टी के जिम्मेदार सीनियर नेताओं को किनारे कर नेता विरोधी दल का पद परिवार में रखा, इसलिए युवा नेतृत्व के संस्कार भी उनके जैसे हैं। वे कोरोना संक्रमण के समय लगातार हल्की बयानबाजी कर रहे हैं। लालू यादव ने राजनीति को सम्पत्ति बनाने का जरिया बनाया, अपराध का जातिकरण या राजनीतिकरण किया और आपदा का भी मजाक बनाया। 2016 में जब पटना के लोग बाढ़ से घिरे थे, तब वे किसी को मछली मारने की सलाह दे रहे थे तो कहीं ग्रामीणों को बता रहे थे कि दुआरे पर आयी गंगा मइया की पूजा करनी चाहिए।

वहीं सुशील मोदी ने बताया कि कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के उपायों में तेजी लाने के लिए केंद्र सरकार ने केंद्रीय टीम भेजी और इस महामारी से निपटने में आपदा राहत कोष से खर्च करने की सीमा 25 से बढाकर 35 फीसद कर दी। अब बिहार सरकार कोविड-19 से बचाव और इलाज पर आपदा राहत कोष से 660 करोड़ रुपये खर्च कर सकेगी। केंद्र सरकार ने राहत कोष में अपने हिस्से योगदान के 708 करोड़ रुपये जारी भी कर दिये।

सुुशील मोदी ने कहा कि आपदा राहत कोष से अब ज्यादा धनराशि पीपीई-किट, क्वरंटाइन सेंटर, दवा, जांच, वेंटीलेटर आदि पर खर्च होगी। केंद्र से 264 नये वेंटीलेटर मिल रहे हैं। अगले सप्ताह से सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर एंटीजन टेस्ट की सुविधा मिलेगी। आइसोलेशन केंद्र में रखे गए मरीजों को अब रोजाना 175 रुपये तक का भोजन मिलेगा। जो लोग केवल संक्रमण बढ़ने के आंकड़े देखते हैं, उन्हें संक्रमण से निपटने के प्रयास में तेजी क्यों नहीं दिखती?

Next Story