Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नीति आयोग की रिपोर्ट पर गरमाई सियासी, तेजस्वी ने स्वास्थ्य व्यवस्था पर साधा निशाना, सीएम नीतीश ने कही ये बात

बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर नीति आयोग द्वारा रिपोर्ट जारी की गई है। इसपर प्रदेश की सियासत गरमा गई है। मामले पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं है। दूसरी ओर राजद नेता तेजस्वी यादव ने स्वास्थ्य व्यवस्था पर तंज कसा है।

Tejashwi Yadav targeted health system of Bihar regarding report of NITI Aayog CM Nitish Kumar news
X

नीति आयोग की रिपोर्ट पर बिहार की सियासत गर्म।

नीति आयोग (NITI Aayog) द्वारा बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था (Bihar's health system) को लेकर अपनी रिपोर्ट जारी की गई है। इस रिपोर्ट को लेकर बिहार में सियासी सरगर्मी तेज होती नजर आ रही है। वहीं जब रिपोर्ट पर बिहार (Bihar) के सीएम नीतीश कुमार (CM nitish Kumar) से भी मीडिया कर्मियों ने सवाल किए, इसपर सीएम ने बताया कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। वहीं रिपोर्ट के बाद ही नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Leader of Opposition Tejashwi Yadav) द्वारा स्वास्थ्य व्यवस्था पर तेज कसा गया है।

गांधी जयंती समारोह के मौके पर पटना (Patna) स्थित गांधी मैदान में मीडियों कर्मियों ने जब सीएम नीतीश कुमार से नीति आयोग की रिपोर्ट पर सवाल पूछे तो उन्होंने जवाब दिया कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। वहीं सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि गांधी के विचारों के साथ ना केवल हम सभी को चलना है, बल्कि गांधी के विचारों को अगली पीढ़ी तक भी हमको पहुंचाना है। सीएम नीतीश गांधी मैदान में महात्मा गांधी को नमन करने के लिए आए थे।

तेजस्वी ने ट्वीट कर कसा तंज

राजद नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर नीति आयोग की रिपोर्ट पर बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था के खिलाफ तंज कसा है। तेजस्वी यादव ने कहा कि 40 में से 39 सांसद बिहार में एनडीए के हैं। इसके बाद भी यहां के अस्पतालों में बेड की संख्या देश में सबसे कम है। इसके लिए ट्वीट के जरिए राजद नेता तेजस्वी यादव ने व्यंग्य कसते हुए राज्य की डबल इंजन सरकार को शुभकामना भी दी। तेजस्वी ने कहा कि देशभर के अस्पतालों में बेड के मामले में बिहार देश में नीचे से प्रथम आया है। इस बात को नीति आयोग की रिपोर्ट कहती है। कहा कि प्रदेश सरकार के 16 साल के कठिन प्रयास के बाद नीचे से प्रथम करने का मौका मिला है। इससे बिहार को अद्भुत लाभ मिल रहा है।

उन्होंने बताया कि नीति आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक देशभर के जिला अस्पतालों में सबसे कम बेड बिहार में हैं। यहां एक लाख की आबादी के लिए सिर्फ छह बेड हैं। आपको बता दें कि नीति आयोग की रिपोर्ट में अस्पतालों में बेड की उपलब्धता, मरीजों को मिलने वाली तमाम सुविधाएं, पैरामेडिकल कर्मियों के साथ ही मेडिकल कर्मियों की संख्या और उपचार के लिए डॉक्टरों की उपलब्धता को आधार बनाया है।

Next Story