Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार चुनाव तय समय पर होने की वजह से बौखलाहट में हैं तेजस्वी यादव: जदयू

जदयू ने कहा कि बिहार विधानसभा के चुनाव तय समय पर होने की वजह से राजद नेता तेजस्वी यादव बौखलाहट में हैं। इसलिये वे बंगरा घाट को लेकर भ्रामक बयान दे रहे हैं। बंगरा घाट को कोई क्षति नहीं पहुंची है। वहीं जदयू ने कहा कि लालू यादव, राबड़ी देवी के कार्यकाल में जो घोटालों का इतिहास रहा है। उसको जनता नहीं भूली है, वे नीतीश कुमार की ईमानदारी पर सवाल खड़े नहीं कर सकते हैं।

tejashwi yadav in fury due to bihar elections due on schedule jdu
X
राजद नेता तेजस्वी यादव ने बंगरा घाट पर उठाये थे सवाल

जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने गुरुवार को ट्वीट कर विपक्षी पार्टी राजद के नेता तेजस्वी यादव को बंगरा घाट मामले को लेकर आड़े हाथ लिया है। याद रहे कल सीएम नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 5024 करोड़ रुपये की लागत से 217 योजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया था। उन्हीं में बंगरा घाट का उद्घाटन शामिल था। उद्घाटन के तुरंत बाद तेजस्वी यादव ने कहा था कि बंगरा घाट का पुल उद्घाटन से पहले ही क्षतिग्रत हो गया है। लेकिन अब जयदू ने उनके आरोपों को खरिज किया है। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि पहले भी गोपालगंज के पुल मामले को लेकर राजद नेता तेजस्वी यादव की किरकिरी हो चुकी है। इस बार भी बंगरा घाट को लेकर तेजस्वी यादव अब जनता को भटकाने का काम कर रहे हैं। जदयू प्रवक्ता ने बंगरा घाट को क्षति ग्रस्त होने की खबरों को खारिज करते हुये कहा कि इस बार भी दरअसल बांध या छोटे-छोटे पुलों को काई क्षति नहीं पहुंची है। बल्कि नेपाल और बिहार के जल ग्रहण क्षेत्रों और अत्यधिक वर्षा, जल जमाव और जल की तेज रफ्तार के प्रभाव की वजह से बंगरा घाट से करीब सात किलोमीटर दूर अपरोक्ष रूप से दरार आई है। उसको भी जैसे पानी का दवाब कम होगा, तुरंत दुरुस्त करा लिया जायेगा।

जदयू प्रवक्ता ने कहा कि हमें लगता है कि ऐसे बयानों के दम पर जो हताशा, झूठ और भ्रष्टाचार के कीर्तिमान स्थापित करने वाली पार्टी के नेता तेजस्वी यादव बार-बार करने का प्रयास कर रहे हैं। वो समक्ष से परे है। वहीं उन्होंने कहा कि उनके मां-पिता लालू यादव और राबड़ी देवी के कार्यकाल में जो घोटालों का इतिहास रहा है। उनको जनता नहीं भूली है। इसलिये हर बात पर कोलाहल और शौरगुल करने से सीएम नीतीश कुमार की ईमानदारी, निष्पक्षता और पारदर्शिता वे सवाल नहीं खड़े कर पायेंगे।




Next Story