Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तेजस्वी को अपने एमएलए/एमएलसी की रिपोर्ट का 18 दिनों से है इंतजार, टेस्ट की सच्चाई पर भी जताया अविश्वास

बिहार धीरे - धीरे कोरोना का ग्लोबल हॉटस्पॉट बनने जा रहा है और बढ़ते मामलों पर बिहार की नीतीश सरकार चिंतित नहीं है। तेजस्वी यादव ने कहा कि हमें अपने एमएलए/एमएलसी की रिपोर्ट 18 - 19 दिनों से इंतजार है पर अभी तक नहीं आई है। वहीं उन्होंने रिपोर्ट की सच्चाई पर भी आशंका जाहिर की है। साथ सरकार के लोगों पर चुनाव की तैयारियों में व्यस्त रहने का आरोप लगाया।

tejashwi has been waiting for the report of his mla mlc for 18 days also expressed disbelief in the truth of the test
X
राजद नेता तेजस्वी यादव

राजद नेता तेजस्वी यादव ने सोमवार को फेसबुक लाइव के जरिये बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा है। तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार धीरे-धीरे कोरोना का ग्लोबल हॉटस्पॉट बनने जा रहा है, क्योंकि राज्य सरकार मामलों की बढ़ती संख्या से चिंतित नहीं है। तेजस्वी ने कहा कि बिहार में कोरोना संक्रमण​से मरने वालों की संख्या भी बढ़ रही है। इसके अलावा तेजस्वी यादव ने तो कोरोना की जांच रिपोर्ट की सच्चाई पर ही सवालिया निशान लगा दिया है। राजद नेता ने इस पर तर्क देते हुए कहा कि जिसका टेस्ट तक नहीं हुआ उसको भी संक्रमित बताया जा रहा है और जो टेस्ट करवा रहे हैं उनकी कई दिनों तक जांच रिपोर्ट नहीं आ रही है।

राजद नेता तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि हमारे कई एमएलए/एमएलसी 18-19 दिनों से अपनी रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं पर अब तक रिपोर्ट नहीं आई। अब तो हमें मुख्यमंत्री जी की रिपोर्ट पर भी शंका है। तेजस्वी यादव ने कहा कि हम कोरोना महामारी को लेकर सरकार को लगातार चेता रहे हैं। पर सरकार को महामारी नजर ही नहीं आ रही है। सरकार ने लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया गया है।

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार के रवैये पर भी सवाल उठाया है। तेजस्वी ने कहा कि हमने सूबे की बिगड़ी स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के कई वीडियो सार्वजनिक किए हैं। लेकिन सरकार ने इनसे सीख ही नहीं ली। तेजस्वी ने कहा कि मानते हैं कि पहले से किसी को नहीं पता था कि कोनोरा महामारी आएगी। लेकिन अब तो तीन माह से ज्यादा का वक्त हो गया है। इस महामारी से लड़ने का इंतजाम हो जाना चाहिए था। तेजस्वी यादव ने कहा कि राज्य सरकार इन असुविधाओं को लेकर आंखें बंद करे हुए है। सूबे में जनता, डॉक्टर और शव उठाने वाले तक कोरोना महामारी से जूझ रहे हैं। तेजस्वी यादव ने सूबे में कोरोना से जंग लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मियों, शव उठाने वालों तक पर पीपीई किट तक नहीं होने का आरोप भी जड़ा। राजद नेता ने बिहार में वेंटिलेटर की भी कमी बताई है। कोरोना को लेकर केंद्र और राज्य सरकार के आंकड़ों में भी र्फक बताया है। उन्होंने राज्य सरकार पर आंकड़ों में भी हेर - फेर करने का आरोप लगाया है।

तेजस्वी यादव ने इन्हीं आरोपों के साथ बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को पूरी तरह से फेल बता दिया और सरकार पर इसको लेकर चिंतित नहीं होने का आरोप लगाया। साथ सरकार के लोगों पर चुनाव की तैयारियों में व्यस्त रहने का आरोप लगाया है। साथ तेजस्वी यादव ने अब राज्य की नीतीश सरकार से कोरोना महामारी को लेकर जाग जाने की अपील की और लोगों की जान बचाने के लिए बेहतर इंतजाम करने की मांग उठाई ।

बिहार धीरे-धीरे कोरोना का ग्लोबल हॉटस्पॉट बनने जा रहा है, क्योंकि राज्य सरकार मामलों की बढ़ती संख्या से चिंतित नहीं है। वे जाँच बढ़ाने के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं। बिहार में कोरोना ​​से मरने वालों की संख्या भी बढ़ रही है। जिसका टेस्ट तक नहीं हुआ उसकी भी रिपोर्ट आ रही है और जो टेस्ट करवा रहे हैं उनकी कई दिनों तक रिपोर्ट नहीं आ रही है। हमारे कई MLA/MLC 18-19 दिनों से अपनी रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं पर अब तक रिपोर्ट नहीं आई। अब तो हमें मुख्यमंत्री जी की रिपोर्ट पर भी शंका है।

Next Story