Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

By-Election: कांग्रेस के लिए प्रचार कर तेजस्वी की दिक्कतें बढ़ाएंगे तेज प्रताप, अशोक राम ने किया दावा

लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव अक्सर पार्टी के दिग्गज नेताओं की समस्याएं बढ़ाते रहे हैं। लेकिन बिहार विधानसभा उपचुनावों के बीच तेज प्रताप यादव अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव की समस्याएं बढ़ाने वाले हैं। कांग्रेस नेता अशोक राम ने ये दावे किए हैं।

Tej Pratap yadav will increase troubles of Tejashwi yadav Will campaign for Congress in Bihar Assembly by-election
X

तेजस्वी यादव की समस्या बढ़ाएंगे तेज प्रताप यादव

राजद (RJD) के दिग्गज नेताओं के लिए अक्सर परेशानी खड़ी करते रहे लालू यादव (Lalu Yadav) के बड़े लाल तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) अब अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) की परेशानियां बढ़ाते हुए दिखाई दे रहे हैं। बिहार विधानसभा उपचुनाव (Bihar assembly by-election) के दौरान कांग्रेस (Congress) व आरजेडी में हुई टूट के बीच बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक राम ने लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव से मुलाकात की है। वहीं कांग्रेस नेता अशोक राम ने दावा ठोका है कि कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट से तेज प्रताप यादव कांग्रेस के लिए प्रचार प्रसार करेंगे। कांग्रेस की ओर से कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट से अशोक राम के बेटे अतिरेक कुमार को मैदान में उतारा गया है। आपको बता दें, कुशेश्वरस्थान विधानसभा क्षेत्र हसनपुर विस सीट से सटा हुआ है। वहीं तेज प्रताप यादव हसनपुर सीट से ही वर्तमान में विधायक हैं।

तेज प्रताप से मिलने के बाद अशोक राम ने बताया कि तेज प्रताप यादव प्रचार करेंगे तो निश्चित तौर पर पार्टी को लाभ मिलेगा। अशोक राम ने बताया कि जब वह तेज प्रताप यादव से मिलने के लिए पहुंचे तो वो अपने संगठन की मीटिंग ले रहे थे। जहां अशोक राम को तेज प्रताप यादव ने बताया कि वह अपने अगले सियासी कदम को लेकर संगठन के लोगों से विचार विमर्श कर रहे हैं। जहां उन्होंने कहा कि आवश्यकता हुई तो वह कांग्रेस के लिए प्रचार प्रसार करेंगे। राजद के स्थान पर कांग्रेस के लिए प्रचार - प्रसार करने के प्रश्न पर अशोक राम ने बताया कि तेज प्रताप यादव ने फिलहाल खुद का संगठन बना लिया है। तेज प्रताप यादव खुद के संगठन को मजबूत करने में लगे हुए हैं। तेज प्रताप की इच्छा है कि युवा सियासत में आएं। तेज प्रताप यादव चाहते हैं कि समाज के पिछड़े वर्ग के लोग सियासत में आगे बढ़ें।

आपको बता दें राजद के उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने एक दिन पूर्व ही दावा ठोका था कि तेज प्रताप राजद से बाहर हो चुके हैं। दो माह पहले तेज प्रताप का बिहार राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह से टकराव हुआ था। उसके बाद से ही तेज प्रताप ने राजद के तमाम कार्यक्रमों से दूरी बना ली है। तेज प्रताप ने राजद कार्यालय में भी जाना बंद कर दिया है। वहीं शिवानंद की इस टिप्पणी पर अभी तक तेज प्रताप की कोई प्रतिक्रिया नहीं नहीं आई है। सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले तेजप्रताप यादव फिलहाल शिवानंद की टिप्पणी पर चुप्पी साधे हुए हैं। गुरुवार को तेजप्रताप यादव ने अपने ट्विटर हैंडल से पोस्ट तो किए पर वो नवरात्र की बधाई व दुर्गा पूजा से संबंधित रहे।

Next Story