Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तेज प्रताप ने कुशेश्वस्थान सीट हारने पर तेजस्वी के करीबी समेत इन तीन लोगों को लिया आड़े हाथ

बिहार के दरभंगा की कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट जदयू ने जीत ली है। रिजल्ट सामने आते ही लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने बड़ा बयान दिया है। साथ ही इस हार के लिए तेज प्रताप ने राजद के तीन नेताओं को निशाने पर लिया है।

Tej Pratap Yadav targets four leaders close to Tejashwi Yadav for losing Kusheshwasthan seat
X

तेज प्रताप यादव

बिहार (Bihar) में दरभंगा की कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट (Kusheshwarsthan Assembly Constituency) उपचुनाव में जदयू (JDU) प्रत्याशी अमन भूषण हजारी ने जीत ली है और यहां से राजद (RJD) के गणेश भारती को हार का सामने करना पड़ा है। रिजल्ट के ऐलान होने के तुरंत बाद लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) की तीखी टिप्पणी की है। तेज प्रताप ने कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट पर हुई राजद की हार के लिए पार्टी से संबंधित इन तीनों नेताओं पर जोरदार हमला बोला है।

तेज प्रताप यादव ने कहा कि कई लोग पार्टी को नुकसान पहुंचाने के लिए ही आते हैं। कहा कि हमने तो पहल से ही सभी को लेकर चलने का कार्य किया है। कांग्रेस के साथ ही अन्य लोगों को साथ लेकर आगे बढ़ रहे थे। तेज प्रताप ने बोला कि पराजय के जिम्मेदार वे हैं जो पार्टी को बर्बाद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई लोग राष्ट्रीय जनता दल को तोडऩे के लिए व भाई-भाई के बीच विवाद कराने का प्रयास कर रहे हैं। वहीं तेज प्रताप ने आग्रह किया कि ऐसे लोग पार्टी छोड़कर चले जाएं। तेजप्रताप यादव ने कहा कि जो कुछ उपचुनाव में हुआ, वो नहीं होना चाहिए था। जो कई कमियां पार्टी में व्याप्त है, वे सहीं होनी चाहिए। तेज प्रताप यादव ने कहा कि हमें सहयोगियों का सम्मान करना होगा।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राजद उम्मीदवार की पराजय होने का समाचार मिलते ही तेजप्रताप यादव पटना स्थित राबड़ी आवास से गुस्से में निकले व कुशेश्वरस्थान की पराजय का ठिकरा राजद बिहार प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, विधान पार्षद सुनील सिंह व तेजस्वी यादव के करीबी संजय यादव के खिलाफ फोड़ दिया। साथ ही लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप ने नेता प्रतिपक्ष एवं अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव के निर्णय पर भी उंगली उठाई। उपचुनाव मेें कांग्रेस से गठबंधन नहीं करने के तेजस्वी यादव के निर्णय को गलत बताया है। तेज प्रताप यादव ने कहा कि हम पहले से हर किसी को साथ लेकर आगे बढऩे की राय देते थे पर यह नहीं किया गया है। वहीं तेज प्रताप यादव ने अपने बीमार पिता लालू प्रसाद यादव को चुनाव प्रचार के लिए लेकर जाने को लेकर भी नाराजगी जाहिर की।

तेजप्रताप यादव ने इस दौरान शिवानंद तिवारी के खिलाफ भी जमकर हमला बोला और कहा कि शिवानंद तिवारी पिताजी के साथ बैठकर खाना ख कर रहे हैं, कहा तक वे जिसके साथ भोजन करते हैं। उन्हें ही धोखा देते हैं। वहीं तेज प्रताप यादव ने कहा कि उन्हें मालूम है कि छोटे भाई को तेजस्वी यादव को कितना दर्द पहुंच रहा होगा। वहीं तेज प्रताप ने दावा ठोका कि इन चार नेताओं को पार्टी से बाहर कर दिया जाए तो वो बिहार में राष्ट्रीय जनता दल की सरकार बनाकर दिखा देंगे। तेज प्रताप यादव ने कहा कि तेजस्वी यादव को यदि मुख्यमंत्री बनना है तो उन्हें उनकी सलाह माननी ही होगी। अभी भी वक्त है, तेजस्वी यादव संभल जाएं। नहीं तो ये चार लोग पार्टी बर्बाद कर देंगे।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने कांग्रेस से अलग होकर राजद के उपचुनाव लडऩे के निर्णय को गलत ठहराया है। तेजप्रताप यादव ने बताया कि वह शुरू से कांग्रेस को साथ लेकर आगे लेकर बढऩे की बात कह रहे थे। वहीं सोनिया गांधी से भी पिता लालू यादव की लगातार बात होती रही हैं। इस उपचुनाव के दौरान भी पिताजी की सोनिया गांधी से बात हुई थी।

और पढ़ें
Next Story