Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना मरीजों के लिये प्लाज्मा दान करने वालों को मिलेगी 1000 रुपये की प्रोत्साहन राशि: सुशील मोदी

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने बताया कि कोरोना मरीज के लिये प्लाज्मा दान कर उनकी जान बचाने में मदद करने वालों को दधीचि देहदान समिति एक हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि देगी। वहीं उन्होंने बताया कि बिहार सरकार की ओर से भी प्लाज्मा दान कर्ताओं के लिए प्रोत्साहन राशि की जल्द घोषणा की जाएगी।

sushil modi said that those who donate plasma for corona patients will get an incentive of 1000 rs
X
बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी

बिहार की ओर से गुरुवार को 'विश्व अंगदान दिवस' पर आयोजित वर्चुअल बैठक में करीब एक हजार से समिति सदस्यों ने हिस्सा लिया। बैठक को सम्बोधित करते हुए समिति के संरक्षक एवं डिप्टी सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कोरोना मरीजों के लिए प्लाज्मा दान करने वालों को समिति की ओर एक हजार रुपये प्रोत्साहन के तौर पर दिया जाएगा। वहीं उन्होंने बिहार सरकार की ओर से भी प्लाज्मा दानकर्ताओं के लिए प्रोत्साहन राशि की जल्द घोषणा किये जाने की बात कही है। सुशील मोदी ने बताया कि पटना एम्स के साथ अब जयप्रभा, पारस अस्पताल, महावीर कैंसर संस्थान पटना व भागलपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल को भी प्लाज्मा बैंक खोलने की अनुमति दी गई है।

सुशील मोदी ने कहा कि जो लोग कोरोना संक्रमण से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं, अगर वे कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा दान करने को इच्छुक हैं तो दधीचि देहदान समिति वैसे लोगों से पूरे बिहार में सम्पर्क कर उनकी सूची बनाएगी और उन लोगों को प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित करेगी।

85 प्रतिशत मरीज 5 से 7 दिन में संक्रमणमुक्त हो रहे हैं: सुशील मोदी

सुशील मोदी ने दावा किया कि सूबे में 85 फीसदी से ज्यादा संक्रमित 5 से 7 दिन के अंदर संक्रमणमुक्त हो रहे हैं। वहीं उन्होंने आम लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना से डरने नहीं और सतर्क रहने की जरूरत है। कोरोना संक्रमित मरीजों में से मात्र तीन प्रतिशत को ऑक्सीजन, दो प्रतिशत को आईसीयू व 01 प्रतिशत से भी कम को वेंटिलेटर की जरूरत पड़ती है। बिहार में कोरोना से मृत्युदर 01 फीसदी से भी कम है।



चार चिकित्सा महाविद्यालयों में चक्षु बैंक स्थापित हुए

सुशील मोदी ने बताया कि बिहार सरकार ने 8 करोड़ 82 लाख की लागत से राज्य के आठ चिकित्सा महाविद्यालयों में चक्षु बैंक स्थापित करने का निर्णय लिया था। जिनमें से आईजीआईएमस, पीएमसीएच पटना के साथ भागलपुर और गया में स्थापित हो चुका है, बाकी चार जगहों पर भी शीघ्र ही कार्यरत हो जाएगा।




Next Story