Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sunday Special: बिहार का लोकप्रिय पारंपरिक व्यंजन है लिट्टी चोखा, घर पर ऐसे करें तैयार

लिट्टी चोखा वैसे तो बिहार का लोकप्रिय पारंपरिक व्यंजन हैं। लेकिन अब इसके दीवाने केवल बिहार, झारखंड तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि लिट्टी चोखा को दक्षिण भारत में भी कई जगहों पर पसंद करने लगें हैं। यह खाने में काफी मजेदार होता है और इसे घर पर इस आसान रेसिपी से बनाया जा सकता है।

sunday special know Litti chokha Recipe popular dish of Bihar
X

लिट्टी चोखा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लिट्टी चोखा (Litti Chokha) बिहार के लोकप्रिय व्यंजनों (Popular Recipes of Bihar Litti Chokha) में से एक है। जिसको लिट्टी और चोखे - दो अलग-अलग व्यंजनों के साथ खाने को कहा जाता है। लिट्टी चोखा बिहार (Bihar), झारखंड (Jharkhand) के अलावा पूर्वी यूपी में खासतौर पर ज्‍यादा पसंद किया जाता है। वैसे दक्षिण भारत समेत देश के अन्य कई हिस्सों में भी लिट्टी चोखा को बड़े प्‍यार व स्‍वाद से खाया जाता है। लिट्टी वैसे तो तो बाटी जैसी दिखाई देती है, पर इसमें फर्क काफी होता है। आटे में सत्तू भरकर लिट्टी तैयार की जाती है। साथ ही आलू, बैंगन व टमाटर को मिक्‍स करके चोखा बनाया जाता है। फिर चोखा को लिट्टी के साथ बड़े प्रेम से खाया जाता है।

लिट्टी में इस्तेमाल होने वाली सामग्री

लिट्टी को बनाने के लिए 2 कप आटा, आधा चम्मच तेल, आधा चम्मच अजवाइन और दो बड़े चम्मच घी की जरूरत होती है।

तैयार करने की प्रक्रिया

सबसे पहले आटे को छान कर बर्तन में रख लें। फिर आटे में घी व हल्‍का सा नमक डाल कर अच्छे से मिला लें। इसके बाद हल्के गर्म पानी के साथ नरम आटा गूंथ लें। फिर गूंथे हुए आटे को ढंककर करीब आधा घंटे तक रखना होगा। फिर लिट्टी बनाने के लिए गूंथा हुआ आटा तैयार है।

सत्तू में ये सामग्री होगी इस्तेमाल

सत्तू बनाने में एक कप बिना छिलके वाले चले भून लें, या सत्तू, कद्दूकस करे हुए 4 से 5 लहसुन, कद्दूकस किया हुआ एक टुकड़ा अदरक लें, एक प्याज बारीक कटी हुई, 2 से 3 बारीक कटी हुई हरी मिर्च, बारीक कटा हुआ आधा कप हरा धनिया, एक चम्मच अजवाइन, एक बड़ा चम्मच नींबू का रस, एक चम्‍मच तेल व दो भरे हुए लाल मिर्च के अचार का मसाला और नमक स्वादानुसार इस्तेमाल होगा।

लिट्‍टी में भरने वाला सत्‍तू ऐसे करें तैयार

अदरक को सबसे पहले धोएं और छिलकर बारीक टुकड़ों में काट लें या कद्दूकस भी की जा सकती है। हरा धनिया व हरी मिर्च बारीक काट लें। सत्तू को बर्तन में निकाल लें। फिर उसमें अदरक, धनिया, हरी मिर्च, नमक, काला नमक, नींबू का रस, जीरा, सरसों का तेल व अचार का मसाला मिला लें। जब सत्‍तू इसमें पूरी तरह से मिल जाए तो इसके बाद 1 से 2 छोटे चम्मच तेल व पानी डाल लें व फिर उसे ऐसे मिक्स कर दें कि वह पूरी तरह से भूरभूरा हो जाए। लो अब सत्‍तू भी हो गया तैयार।

ऐसे बनाएं लिट्टी

गूंथे हुए आटे की मध्यम आकार की लोइयां बना लें। फिर लोई को अंगुलियों की मदद से 2 से 3 इंच के व्यास में गोल कर लें। जिसपर एक या डेढ़ छोटी चम्मच सत्‍तू रख लें। फिर लोई को को चारों ओर से उठा कर बंद कर गोल कर दें। फिर इस गोले को हथेली की मदद से दबा कर थोड़ा चपटा कर दें। लो आपकी लिट्टी सिकने के लिए हो गई तैयार। फिर लकड़ियों या कोयले को जला कर उसे पूरी तरह से आग बना लें। जिसे जमीन या अंगीठी में रख लें। तैयार लोइयों को उस पर रख दें और पलट-पलट कर भूरी होने तक सेंकते रहें।

चोखा ऐसे करें तैयार

आलू, बैंगन और टमाटर को धोने के बाद भून लें। ठंडा होने पर इनके छिलका उतार लें। अब किसी बर्तन में रख कर चम्मच की मदद से मिक्स कर लें। फिर इसमें कटी हुई प्‍याज, हरी मिर्च, हरा धनिया पत्‍ता, नींबू, अचार, नमक व तेल डाल कर अच्छे से मिला लें। लो अब तैयार हो गया बिहार का लोकप्रिया चोखा। यदि आप अदरक और लहसुन को पसंद करते हैं तो 5 से 6 लहसुन की कलियां व अदरक का एक छोटा सा टुकड़ा बारीक काटकर इस चोखे में मिक्स कर लें।

अब परोस दें

एक प्याले में चोखा डाल दें। गर्म लिट्टी को बीच में से तोड़कर घी में डुबा दें। अब आलू, बैंगन और टमाटर के चोखा को हरी धनिए की चटनी के साथ पेश कर दें।

Next Story