Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दूसरे पति संग मिलकर नाबालिग बेटी का सौदा कर रही थी मां, पोती को ऐसे बचाने में सफल हुईं दादी

बिहार के कैमूर जिले में एक महिला की हरकतों से मां की ममता भी शर्मसार हो गई है। यहां पर एक मां पहले पति से पैदा अपनी नाबालिग बेटी का सौदा कर रही थी। जिसको समय रहते उसकी दादी ने बचा लिया।

Step father and mother prepare to sell minor daughter in Kaimur Grandmother saved granddaughter bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के कैमूर जिले से सामने आई घटना (Kaimur incident) ने तो मां की ममता (mother love) को भी सवालों के घेरे में लाकर खड़ा कर दिया है। क्योंकि यहां पर एक नाबालिग लड़की का सौदा (minor girl deal) उसकी सगी मां द्वारा किया जा रहा था। पूरे मामले की भनक किसी तहर दादी (grandmother) को लग गई। जिन्होंने समय रहते उचित कदम उठाकर अपनी पोती (granddaughter) को गलत हाथों में जाने से बचा लिया।

यह शर्मनाक घटना कैमूर जिले के चैनपुर थाना इलाके से सामने आई है। यहां पर सगी मां और सौतेले पिता मिलकर अपनी ही नाबालिग 15 वर्षीय बेटी को पैसे की लालच में बेचने का प्रयास कर रह थे। मामले को लेकर पहुंची पुलिस (Police) ने सगी मां और सौतेले पिता (step father) को हिरासत में ले लिया है। वहीं दोनों से हिरसत में पुलिस पूरे मामले के बारे में पूछताछ कर रही है।

नाबालिग बच्ची की दादी ने बताया कि वे लोग चैनपुर थाना इलाके के जयरामपुर के निवासी हैं। यहां उनके बेटे रामाशीष बिंद का विवाह करीब 16 वर्ष पहले कश्मीरा देवी के साथ हुआ था। जहां पर कश्मीरा देवी ने एक बेटी को जन्म दिया। बाद में कश्मीरा देवी ने उनके पुत्र को छोड़कर किसी दूसरे युवक से आपी शादी रचा ली। इसके बाद लड़की उनके यानी कि दारी के पास ही रहती थी। जब लड़की बड़ी हुई, करीब दो साल पूर्व उसकी मां कश्मीरा देवी उसका लालन-पालन करने के बात कहकर बेटी को दादी के पास से अपने साथ ले गई। वहां पर सौतेले पिता और मां कश्मीरा देवी ने पैसे के लालच में आकर हमारी नाबालिग 15 वर्षीय पोती की शादी के नाम पर यूपी के इटावा निवासी लोगों के हाथों में बेचने की तैयारी कर ली। इस बात की भनक नाबालिग लड़की को लग गई। उसने तुरंत ही इस बात का विरोध किया। इसको लेकर सगी मां और सौतेले पिता ने मिलकर हमारी पोती के साथ मारपीट भी की।

मां को चकमा देकर बच्ची पहुंची दादी के पास

मौका मिलने पर हमारी नाबालिग पोती उन दोनों को चकमा देकर किसी तरह वहां से बचकर निकलने में कामयाब हो गई। साथ ही वो वहां से भागकर सीधे अपने पहले पिता व दादी के पास आ गई। यहां पर नाबालिग लड़की ने अपनी दादी को पूरी घटना बताई। पोती की दर्दभरी बातें सुनते ही दादी ने तुरंत चैनपुर थाना को फोन लगाया। चैनपुर थाना पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और सभी आरोपियों को हिरासत में लेकर चैनपुर थाने आ गई। मौके पर चैनपुर थाना प्रभारी ने चाइल्डलाइन और बाल संरक्षण इकाई के सदस्यों को भी बुलाया। इन दोनों इकाइयों के सदस्यों ने भी मामले की तफ्तीश की। यहां से चाइल्ड लाइन की टीम कागजी कारवाई करते हुए नाबालिक लड़की को अपने साथ ले गई।

चाइल्ड लाइन करेगी बच्ची की परवरिश

चैनपुर थाना पुलिस ने बताया एक महिला से शिकायत मिली थी कि उनकी नाबालिग पोती को उसकी सगी मां और सौतेले पिता द्वारा बेचा जा रहा है। मामले में तुरंत कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को कस्टडी में ले लिया गया। वहीं पुलिस का कहना है कि मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा। उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल परवरिश के लिए बच्ची को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया गया है।

Next Story